home page

Mughal Harem: मुगल हरम में उतेजना बढ़ाने के लिए खाते थे ऐसी चीजें, पूरे दिन रात रहता था टाइट माहौल

 | 
Mughal Harem Histroy: मुगल हरम में उतेजना बढ़ाने के लिए खाते थे ऐसी चीजें, पूरे दिन रात रहता था टाइट माहौल

Mughal Harem History: मुगलकाल में महिलाओं और दासियों के अलावा किन्नरों के साथ भी संबंध बनाए जाते थे। इनका खुलासा पुराने इतिहासकारों ने अपनी किताबों में किया है। 

इतालवी यात्री मनूची और और डच व्यापारी फ्रांसिस्को पेलसर्ट ने हरम और मुगल बादशाहों की जुड़ी कई ऐसी बातें अपने संस्मरणों में उजागर की जो चौंकाने वाली थीं. उनके संस्मरणों में यह साफतौर पर लिखा गया था कि मुगल बादशाह किस कदर भोग विलास में डूबे रहते थे.

फ्रांसिस्को पेलसर्ट ने ऐसा ही एक किस्सा मुगल बादशाह जहांगीर के बारे में दर्ज किया. पेलसर्ट धीरे-धीरे जहांगीर के करीबी दोस्तों में शामिल हुए और उन्हें कई दिलचस्प बातें पता चलीं.

मुगलों का सबसे विलासी बादशाह
फ्रांसिस्को पेलसर्ट ने मुगल बादशाह पर किताब लिखी और नाम दिया ‘जहांगीर इंडिया’. किताब में खुलासा किया है कि जहांगीर ऐसा मुगल शासक था जिसकी 25 साल की उम्र में 20 शादियां हुई थीं. किताब में उसे भोग-विलास में डूबा रहने वाला बादशाह बताया. उसके हरम में 300 से अधिक महिलाएं थी. उसके पूरे जीवनकाल में यह संख्या बढ़ती रही.

हर पत्नी की देखरेख के लिए 20 दासियां
जहांगीर के दौर में भी हरम कितना भव्य था इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जहांगीर ने अपनी 20 से अधिक पत्नियों की देखरेख के लिए दासियों की लाइन लगवा दी थी. हर एक पत्नी की देखभाल के लिए 20 दासियां थीं. 

उन्हें हर माह भत्ता दिया जाता था वो उसका सबसे ज्यादा इस्तेमाल गहनों और कपड़ों पर करती थीं. इसकी वजह थे बादशाह जहांगीर. वो खुद को खूबसूरत बनाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ती थीं ताकि वो बादशाह की नजर में आ सकें. उन्हें आकर्षित कर सकें.

WhatsApp Group Join Now