home page

सिरसा सीडीएलयू में राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अनुरूप पाठ्यक्रमों का प्रारूप तैयार करने को लेकर हुई बैठक

विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. अजमेर सिंह मलिक की अध्यक्षता में लिए गये ये महत्वपूर्ण फैसले

ताजा खबरों, बिजनेस, केरियर व नौकरी संबंधित खबरों के लिए

व्हाट्सअप ग्रुप

से जुड़े

 | 
विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. अजमेर सिंह मलिक की अध्यक्षता में लिए गये ये महत्वपूर्ण फैसले

mahendra india news, new delhi
हरियाणा के SIRSA में स्थित चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय सिरसा से संबंधित महाविद्यालयो में शैक्षणिक 2024-25 से एनईपी-2020 को लागू किया जाएगा। मानविकी तथा सामाजिक विज्ञान संकाय के विभिन्न विभागों द्वारा राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अनुरूप पाठ्यक्रमों का प्रारूप आगामी 10 फरवरी तक तैयार किया जाएगा। यह महत्वपूर्ण फैसला मंगलवार को सीडीएलयू के कुलपति प्रोफेसर अजमेर सिंह मलिक की अध्यक्षता में आयोजित विभिन्न विभागों के अध्यक्षों की मीटिंग में लिया गया।


विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर मलिक ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति से विद्यार्थियों के संपूर्ण व्यक्तित्व का विकास होगा। सीडीएलयू ने यूनिवर्सिटी स्कूल फॉर ग्रैजुएट स्टडीज के माध्यम से NEP आधारित पाठ्यक्रमों की शुरुआत करने में प्रदेश में अग्रणी भूमिका निभाई थी। इसके काफी उत्साहवर्धक परिणाम सामने आ रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को गुणवत्ता शिक्षा प्रदान करना विश्वविद्यालय प्रशासन की प्राथमिकता है। कुलपति ने विभागाध्यक्षों को निर्देश दिए कि वे विभिन्न प्रोग्राम्स के सिलेबस के अंदर नवीनतम सामग्री डाले जिसे पढ़कर बच्चे न केवल राष्ट्रीय स्तर पर बल्कि वैश्विक स्तर पर अपना लोहा मनवा सके। बैठक में समय सारणी की यूनीफॉर्मिटी की बात भी रखी गई और विद्यार्थियों को मासिव ओपन ऑनलाइन कोर्सेज (मूक) के माध्यम से शिक्षा ग्रहण करने के लिए प्रेरित करने के निर्देश कुलपति द्वारा दिए गए। 


विश्वविद्यालय के कुलपति ने विभाग अध्यक्षों से कहा कि वे नवीनतम प्रोग्राम्स को सर्च करके आईक्यूएसी में दे ताकि गुणवत्ता परक शिक्षा विद्यार्थियों को प्रदान की जा सके। बैठक के दौरान विभाग अध्यक्षों को विभिन्न संगठनों के साथ एमओयू करने के लिए भी प्रेरित किया गया। 


इस बैठक में यह भी फैसला लिया गया कि विद्यार्थियों को व्यवहारिक रूप से दक्ष करने के लिए नेशनल बुक ट्रस्ट, विभिन्न मीडिया हाउसेस तथा विषय से संबंधित संगठनों में विद्यार्थियों की ट्रेनिंग को सिलेबस का पार्ट बनाया जाए। इस बैठक में विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ राजेश बंसल, शैक्षणिक मामलों के अधिष्ठाता प्रो. S K गहलावत, एनईपी कोऑर्डिनेटर प्रोफेसर सुरेंदर सिंह सहित विभिन्न विभागों के अध्यक्ष उपस्थित थे।