home page

गन्ना उत्पादक किसानों के लिए अच्छी खबर, इस्मा ने सरकार से ये रखी डिमांड

 | 
 गन्ना उत्पादक किसानों के लिए अच्छी खबर, इस्मा ने सरकार से ये रखी डिमांड

देश में कई प्रदेशों के अंदर गन्ने की बिजाई किसान करते हैं। गन्ने का उत्पादन करने वाले किसानों के लिए अच्छी खबर है। आने वाले समय में किसानों को गन्ने के रेट का भुगतान समय पर किया जाएगा।  

आपको बता दें कि चीनी उद्योग के निकाय इस्मा ने केंद्र सरकार से सितंबर में खत्म होने वाले करंट मार्केटिंग ईयर में 20 लाख टन चीनी निर्यात की अनुमति देने का आग्रह किया है।

बता दें कि इस्मा के अनुसार सरप्लस चीनी की खेप का निर्यात करने से चीनी मिलों की नकदी की स्थिति में सुधार होगा, इससे वे वक्त पर किसानों को गन्ना रेट का भुगतान कर सकेंगी। 

आपको बता दें कि इस करंट मार्केटिंग ईयर 2023-24 (अक्टूबर-सितंबर) के लिए, केंद्र सरकार ने घरेलू आपूर्ति को बढ़ावा देने और खुदरा  रेटों  को नियंत्रित करने के मकसद से चीनी निर्यात की मंजूरी नहीं दी है। पिछले मार्केटिंग ईयर में, चीनी मिलों को करीबन 60 लाख टन चीनी निर्यात करने की मंजूरी दी गई थी

WhatsApp Group Join Now

आपको बता दें कि कल यानि सोमवार को एक बयान में, भारतीय चीनी और जैव-ऊर्जा निर्माता संघ  ने कहा कि अप्रैल 2024 के अंत तक उत्पादन करीबन 314 लाख टन तक पहुंच गया है।