home page

सिरसा की श्राी बाबा तारा जी कुटिया में होली पर्व पर विशाल भंडारे का आयोजन, श्रद्धालुओं ने बाबा की समाधि पर नवाया शीश

भंडारे मेें हजारों श्रद्धालुओं ने ग्रहण किया प्रसाद, सभी ने दी एक दूसरे को दी होली की बधाई
 | 
भंडारे मेें हजारों श्रद्धालुओं ने ग्रहण किया प्रसाद, सभी ने दी एक दूसरे को दी होली की बधाई

mahendra india news, new delhi 

हरियाणा के सिरसा मेंं श्री बाबा तारा जी चैरिटेबल ट्रस्ट सिरसा की ओर से होली के उपलक्ष्य में सोमवार को  रानियां रोड स्थित श्री तारकेश्वरम धाम में विशाल भंडारे का आयोजन किया गया। सिरसा के विधायक, पूर्व गृहराज्यमंत्री व हलोपा सुप्रीमो  गोपाल कांडा के अनुज व श्री बाबा तारा जी कुटिया के मुख्य सेवक गोबिंद कांडा ने श्रद्धालुओं का स्वागत किया और जनसमस्याएं भी सुनी। 

श्री बाबा तारा जी कुटिया के मुख्य सेवक गोबिंद कांडा ने सबसे पहले श्री बाबा तारा जी की समाधि पर जाकर शीश नवाया और पूजा अर्चना की। बाद मेें उन्होंनें शिवालय में जाकर जलाभिषेक किया। इस अवसर पर भंडारे के प्रसाद का भोग लगाया। सत्संग स्थल पर भंडारे का शुभारंभ किया गया। इस मौके पर  सिरसा के विभिन्न सामाजिक, धार्मिक संगठनों के पदाधिकारी पहुंचे और सभी ने एक दूसरे को होली की बधाई दी। होली के अवसर पर सबसे पहले श्रद्धालु श्री बाबा तारा जी की समाधि पर पहुृंचे और वहां पर शीश नवाने के बाद शिवालय गए जहां पर उन्होंने जलाभिषेक किया, पूजा अर्चना के बाद सभी सत्संग स्थल पर पहुंचे। 

WhatsApp Group Join Now

जहां पर विशाल भंडारे का आयोजन किया जा रहा था। भंडारे को लेकर बच्चों में विशेष उत्साह देखा गया, वे भंडारे का प्रसाद ही ग्रहण करने नहीं आए थे बल्कि भंडारे में सेवा भी देने आए थे। इस स्थल पर श्रद्धालुओं के बैठने का उचित प्रबंध किया गया था जहां पर लोगों ने श्री बाबा तारा जी कुटिया के मुख्य सेवक गोबिंद कांडा को होली की बधाई दी और एक दूसरे को तिलक भी लगाया। इस मौके पर पुष्प होली भी खेली गई। ग्रामीण क्षेत्र से आए श्रद्धालु काफी खुश दिखाई दिए। इस मौके पर भी लोगों ने गांव की समस्याएं गोबिंद कांडा के समक्ष रखी। उन्होंने जल्द से जल्द समस्याओं के समाधान का आश्वासन दिया।

हलोपा प्रदेश सचिव कृष्ण लाल सैनी,  जय सिंह कुसुम्बी, श्री सालासर धाम मंदिर के प्रधान गोपाल सर्राफ, श्री अग्रवाल सेवा सदन के प्रधान संजीव जैन, अंजनी कनोड़िया, अनिल सर्राफ, नरेश बणी वाले, पवन साहुवाला, लछमन गुज्जर, हरिप्रकाश शर्मा, विजय यादव, अश्वनी बांसल,  महेश बांसल,  हरिवंद्र मराड, पाल सिंह बाजेकां, राकेश सहारण आदि मौजूद थे।