home page

चौपटा क्षेत्र के गांवों में पशुओं की मौत होने पर पशुपालन विभाग की टीम ने जांच की शुरू

पशुओं की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चलेगा किस कारण से हो रही है पशुओं की मौत 

ताजा खबरों, बिजनेस, केरियर व नौकरी संबंधित खबरों के लिए

व्हाट्सअप ग्रुप

से जुड़े

 | 
पशुओं की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चलेगा किस कारण से हो रही है पशुओं की मौत 

mahendra india news, new delhi

चौपटा के तीन गांवों में पिछले दिनों से लगातार पशुओं की बीमारी के चलते मौत हो रही है। इन गांवों में अभी तक करीबन तीन दर्जन से अधिक  पशुओं की मौत हो चुकी है। चौपटा क्षेत्र के गांवों में पशुओं की मौत होने पर पशुपालन विभाग की टीम ने जांच शुरू कर दी है। इसके बाद ही पशुओं की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चलेगा किस कारण से पशुओं की मौत हो रही है। पशुपालन विभाग की टीम ने पशुओं के सैंपल भी लिए गये हैं। 


पशुपालन विभाग की टीम में डा. विजय बैनीवाल, डा. रवि तनेजा, डा. रोहित जांगडा के नेतृत्व में गांव रायपुर मेें पहुंची। यहां पर पशुपालक सतवीर ङ्क्षसह बैनीवाल की भैंस का पोस्टमार्टम किया गया। इसी के साथ ही रूपावास, रायपुर व बरासरी में करीबन 8 पशुओं के सैंपल लिए गये हैं। सैंपल की जांच व पोस्टमार्टम में ही पशुओं की मौत के कारण का खुलासा हो पाएगा। 

पशुपालक चिंता में 
गांवों में लगातार पशुओं के मरने के से पशुपालक चिंता में हैं। गांव रूपावास के महावीर सिंह की 3 पशु, मोहनलाल के तीन पशु, रामचंद्र ढिल्लो की दो पशु, रायपुर के रामनिवास की तीन पशु, राजवीर सिंह के पांच पशु, बरासरी के सुरेंद्र रोज के 4 पशु व अन्य पशुपालकों के पशु अभी भी बीमारी से जुझ रहे हैं। पशुपालकों ने बताया कि पशुओं के मुंह में छाले होते हैं। इसके बाद खड़ा पशु ही गिरकर मौत हो रही है। उन्होंने कहा कि पशुओं की मौत होने से आर्थिक तौर पर काफी नुकसान झेलना पड़ रहा है। 

पशुपालन विभाग के उपनिदेशक डा. बीएस बांसल ने कहा कि चौपटा क्षेत्र के गांवों में पशुओं की किस कारण से मौत हो रही है। इसके लिए टीम गांवों में वीरवार को भेजी गई। टीम ने पशुओं के सैंपल व पोस्टमार्टम किया है। इसकी रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल पाएगा।