home page

डीजीपी शुत्रजीत कूपर सिरसा में बोले -पुलिस अपना काम जितनी सरलता के साथ करेगी उसकी कार्यप्रणाली उतनी ही कुशल होगी

डीजीपी ने हिसार मंडल के सभी पुलिस अधिकारियों की बैठक लेकर, मंडल स्तर के कार्यो की समीक्षा  की

ताजा खबरों, बिजनेस, केरियर व नौकरी संबंधित खबरों के लिए

व्हाट्सअप ग्रुप

से जुड़े

 | 
डीजीपी ने हिसार मंडल के सभी पुलिस अधिकारियों की बैठक लेकर, मंडल स्तर के कार्यो की समीक्षा  की

mahendra india news, new delhi
पुलिस महानिदेशक शत्रुजीत कपूर ने कहा है कि पुलिस अपना काम जितनी सरलता के साथ करेगी, उसकी कार्यप्रणाली उतनी ही कुशल होगी । इसलिए किसी भी अपराध में जब किसी अभियुक्त को गिरफ्तार करने की प्रक्रिया की जा रही हो तो तहरीर में साक्ष्यों का आंकलन सही और सरल भाषा में किया जाए। पुलिस महानिदेशक Director General of Police Shatrujeet Kapoor पुलिस लाइन स्थित प्राशासनिक ब्लॉक के सभागार में हिसार मंडल के सभी वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की बैठक को संबोधित करते हुए कही । इस बैठक में हिसार मंडल के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्रीकांत जाधव, जिला सिरसा के SP विक्रात भूषण, फतेहाबाद की SP आस्था मोदी, पुलिस जिला ड़बवाली के SP सुमेर सिंह, पुलिस जिला हांसी के SP मकसूद अहमद व जिला जींद के एसपी सुमित कुमार सहित सभी एएसपी व डीएसपी उपस्थित थे। 

डीजीपी SIRSA जिले के अपने दो दिवसीय कार्यक्रम के पहले दिन शुक्रवार देर सांय आयोजित इस बैठक में हिसार मडंल स्तर के पुलिस विभाग के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे । डीजीपी ने कहा कि महिला विरोधी व नशे से  संबंधित अपराध के  खिलाफ पुलिस पूरी संवेदनशीलता व सख्ती के साथ कार्य करे । एनडीपीएस एवं आर्म्स एक्ट के तहत हुए अपराधों पर कार्यवाही प्राथमिकता के आधार पर करे । नशा व गैर कानूनी हथियारों की तस्करी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाए । प्रदेश की सीमा के भीतर अवैध हथियार व नशे का सामान लाने वाले हर तस्कर के मन में पुलिस का भय व्याप्त होना चाहिए ।

Director General of Police Shatrujeet Kapoor कहा कि पुलिस का काम न्याय दिलाना है । इस बात का हमेशा ध्यान रहे कि किसी निर्दोष व्यक्ति को परेशानी ना हो और दोषी व्यक्ति कानून के  शिकंजे से ना बच सके । इसका एक ही तरीका है कि हम अपनी अनुसंधान प्रक्रिया का सरलीकरण करें और वैज्ञानिक तकनीकों को अपनी अनुसंधान प्रक्रिया में शामिल करके इसे सक्षम बनाएं ।

इस बैठक में DGP ने हिसार मंडल के सभी जिलों के आबकारी व जुआ अधिनीयम, 498 ए आईपीसी, कोर्ट में विचाराधीन मामले, एनडीपीएस एक्ट, ग्राम प्रहरियों की गत चार महिनो के दौरान उपलब्धिया व उनके द्वारा विभिन्न अपराधों को रोकने बारे की गई कार्यवाही की समीक्षा, महिलाओं एवं कमजोर वर्गों के खिलाफ होने वाले अपराधों की समीक्षा की । उन्होंने इन सभी विषयो पर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए ।


हिसार मंडल के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्रीकांत जाधव ने बताया कि मंडल स्तर पर अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जा रही है ।  हिसार मंडल  में अब तक 4402 ड्रग तस्कर चिन्हित किए गए है जिनमें से 925 को गिरफ्तार किया जा चुका है और अन्य के खिलाफ कार्यवाही की जा रही है । अब तक 4854 नशा पीडितों की पहचान करके उनको रीहैबिलिटेट किया जा रहा है । महिला एवं कमजोर तबके के खिलाफ अपराध करने वाले अपराधियों पर सख्त कार्यवाही की जा रही है । 


एडीजीपी द्वारा मंडल स्तर पर ग्राम प्रहरीयों द्वारा किए कार्यों की विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि उनके द्वारा  एनडीपीएस एक्ट के तहत मंडल स्तर पर 22 मामले, आर्म्स एक्ट के 13 मामले, जुआ अधिनीयम के तहत 44, आबकारी अधिनियम के 227 मामले, बेल जंपरो के संदर्भ में 69 मामले, मोस्ट वांटिड अपराधियों के तीन मामलो  एंव अन्य  21 विभिन्न मामलों पर  कार्यवाही की गई । उन्होंने कहा कि मंडल पुलिस विभाग के एक-एक अधिकारी व कर्मचारी मंडल में अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए प्रतिबद्ध है ।