home page

इस साल में गडकरी तोड़ देंगे अपने सारे पुराने रि‍कॉर्ड, जानिए किलोमीटर हाईवे बनाने का लक्ष्‍य

वर्ष 2024 में ये हैं नया प्लान

ताजा खबरों, बिजनेस, केरियर व नौकरी संबंधित खबरों के लिए

व्हाट्सअप ग्रुप

से जुड़े

 | 
वर्ष 2024 में ये हैं नया प्लान

mahendra india news, new delhi

देश में केंद्र सरकार सड़कों पर विशेष ध्यान दे रही है। एक प्रदेश से दूसरे प्रदेशों को जोड़ने के लिए हाइवे का निर्माण किया जा रहा है। इससे लोगों को काफी सुविधा मिल रही है। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय  ने चालू वित्त वर्ष के दौरान 13,814 किलोमीटर हाईवे बनाने का लक्ष्य हासिल करने का भरोसा जताया है। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के सचिव अनुराग जैन ने तो एक प्रेस कांफ्रेंस में दावा किया है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार के सत्ता में आने के बाद से इंडिया में नेशनल हाईवे की कुल लंबाई 2014 में 91,287 किलोमीटर से दिसंबर 2023 तक 60 फीसद बढ़कर 1,46,145 किलोमीटर हो गई।

सचिव जैन ने कहा कि 2023-24 में अब तक हाईवे बनाने की रफ्तार पिछले वर्ष की तुलना में बेहतर रही है। उन्होंने कहा कि अप्रैल-दिसंबर 2023 के दौरान केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने 6,217 किलोमीटर नेशनल हाईवे का निर्माण किया, जो एक वर्ष पहले के 5,774 किलोमीटर से अधिक है। उनके अनुसार सरकार 2023-24 में दस हजार किलोमीटर की राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं को मंजूर करने की योजना बना रही है।


उन्होंने बताया कि 2020-21 में 13,327 किलोमीटर, 2021-22 में 10,457 किलोमीटर और 2022-23 में 10,331 किलोमीटर हाईवे बनाया है। उन्होंने बताया कि दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे का निर्माण दिसंबर 2024 तक पूरा होने की उम्मीद है। सरकार ने कंपनियों से 2023-24 में परियोजनाओं की मंजूरी देने की रफ्तार को बढ़ाने के लिए पहचानी गई परियोजनाओं के लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार करने को कहा गया है

जैन ने कहा कि चार लेन और उससे ऊपर के राष्ट्रीय राजमार्गों की कुल लंबाई दिसंबर 2023 में 2.5 गुणा बढ़कर 46,179 किलोमीटर हो गई, जो 2014 में 18,387 किलोमीटर थी. जबकि 2014 में हाई-स्पीड कॉरिडोर की कुल लंबाई 353 किलोमीटर थी, जो 2023 में बढ़कर 3,913 किलोमीटर हो गई।  मंत्रालय का राजमार्ग बनाने पर खर्च 2014 से 2023 में 9.4 गुण बढ़कर 3.17 लाख करोड़ रुपये होने की उम्मीद है।