home page

गुड न्यूज: ब्रह्माकुमारीज़ द्वारा देश के 5000 गांवों को आदर्श गोकुल गांव बनाने का संकल्प

 | 
 गुड न्यूज: ब्रह्माकुमारीज़ द्वारा देश के 5000 गांवों को आदर्श गोकुल गांव बनाने का संकल्प
mahendra india news, new delhi

गांवों के सर्वांगीण विकास के लिए भारत सरकार के पंचायती राज मंत्रालय द्वारा घोषित 9 सतत विकास लक्ष्यों पर आधारित परियोजनाओं को क्रियान्वित करने हेतु  ब्रह्माकुमारीज़ के कृषि एवं ग्राम विकास प्रभाग द्वारा पूरे भारतवर्ष में  कई प्रकार के अभियान चलाए जा रहे हैं जिसमें राजऋषि आदर्श गोकुल गांव एक मुख्य अभियान है, इस अभियान की टीम के सदस्यों के HARYANA SIRSA पंहुचने पर आनंद सरोवर में दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम तथा सेमीनार का आयोजन किया गया। 


इसमें माउंट आबू से पधारे बी के चंद्रेश और बी के प्रहलाद, जयपुर से B K शयाम प्रताप राठौर और मुम्बई के बी के दिलीप ने उनके द्वारा किए जा रहे ग्राम विकास के कार्यों की प्रोजैक्टर के माध्यम से पूरी जानकारी दी। इस कार्यक्रम में सिरसा के कई गांवों के पंच, सरपंच, कृषि विज्ञान केन्द्र के अधिकारी, ज़िमींदार और जैविक खेती एक्सपर्ट, किसान तथा अन्य गणमान्य लोग शामिल हुए।

WhatsApp Group Join Now

कार्यक्रम में B K चन्द्रेश जी ने कहा कि स्वच्छता, हरित पंचायत, पर्याप्त जल संसाधन युक्त पंचायत, महिला सशक्तिकरण, बाल हितैषी पंचायत, गरीबी मुक्त पंचायत, ढांचागत आत्मनिर्भर पंचायत, न्यायपूर्ण पंचायत तथा सुशासन युक्त पंचायत इत्यादि जो भी सरकार की योजनाएं हैं इनको मानवीय मूल्यों से जोड़ दिया जाए तो भारत के हर गांव को आदर्श गावं बनाया जा सकता है, क्योंकि विकास के हर कार्य की शुरूआत हमारे मन से होती है और मन को शुद्ध और शक्तिशाली बनाने के लिए शुद्ध अन्न का होना बहुत जरूरी है जिसके लिए किसानों को सशक्त करने और कृषि की तकनीक में आवश्यक बदलाव लाने के लिए संस्था द्वारा शाश्वत यौगिक खेती अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत किसानों को वैचारिक स्तर पर जागरूक किया जाता है ताकि लोगों को बिना रसायनिक खाद के शुद्ध खाद्य पदार्थ उपलब्ध हो सके  ।

जयपुर के राजऋषि जहोता गांव के सरपंच बी के श्याम प्रताप राठौर जी ने अपने गांव को एक आदर्श गांव बनाया है जिसमें  उपरोक्त सभी बातों को लागू करते हुए ब"ो से लेकर बुज़ुर्ग तक हर ग्रामीण को शिक्षित और सशक्त बनाया है, यहां तक कि गांव की हर महिला आत्मनिर्भर है और कई प्रकार के लघु उद्योग चला रहीं हैं, गांव की हर बेटी को अपनी आत्मरक्षा के लिए कई प्रकार के प्रशिक्षण भी दिए जाते हैं।  बी के श्याम जी ने जहोता गांव में हुए विकास की प्रेसेन्टेशन को दिखाते हुए बताया कि इस गांव का यू एन ओ के अधिकारियों ने भी अवलोकन किया और अवार्ड से सम्मान्नित भी किया है। 

इसके अलावा बी के प्रहलाद और  B K दिलीप जी ने भी माउंट आबू में स्थित आदर्श वाटिका तथा ग्राम विकास प्रभाग द्वारा चलाई जा रही अन्य कई प्रकार की गतिविधियों की जानकारी दी।

राजयोगिनी बिन्दू दीदी नें कहा कि भारत की आत्मा गांवों में बसती है, इसलिए किसी भी प्रकार के विकास के लिए गांवों को स्व'छ, सुन्दर और विकसित बनाना ही होगा, इसके लिए हर व्यक्ति अपनी निजी जिम्मेवारी को समझते हुए इस अभियान का हिस्सा बनें। बहन जी ने बताया कि सिरसा जिला में भी निकट भविष्य में जल्द ही इस प्रकार के आदर्श गांव का एक मॉडल तैयार किया जाएगा और जिला के सभी गांवों के पंचों, सरपंचों, नम्बरदारों, किसानों तथा अन्य अधिकारियों के साथ मिलकर एक विशाल कार्यक्रम का आयोजन भी किया जाएगा।

 

इस मौके बी के रामनिवास जी ने भी अपने विचार रखे और उपस्थित लोगों से यौगिक खेती को अपनाने की अपील की। कार्यक्रम में कृषि विज्ञान केन्द्र के डा. अनिल मेहता जी, सरपंच एसोसिएशन प्रैसिडैंट सिरसा ब्लॉक श्री वेद प्रकाश जी, सरपंच नाथूसरी चोपटा बहन रीटा जी, पूर्व चेयरमैन ब्लाक समिति श्री वीरेन्द्र जी साहू जी, बहन वीना बिश्रोई जी- जैविक खेती एक्सपर्ट, साहीवाल सदन गिल्लाखेड़ा के केयर टेकर श्री भूमिबल शर्मा जी सहित अनेक गणमान्य लोग शामिल हुए।