home page

हरियाणा के किसान सतबीर सिंह ने यूट्यूब पर वीडियो देखकर शुरू की सौंफ की खेती, अब ले रहा है मुनाफा

 | 
 हरियाणा के किसान सतबीर सिंह ने यूट्यूब पर वीडियो देखकर शुरू की सौंफ की खेती, अब ले रहा है मुनाफा
mahendra india news, new delhi

हरियाणा के सिरसा जिले में जोड़िकया गांव के किसान सतबीर सिंह ने यूट्यूब पर वीडियो देखकर सौंफ की खेती करना शुरू किया। आज सतबीर सिंह सौंफ की खेती कर मुनाफा कमा रहा है। अब किसान सतबीर ङ्क्षसह की सौफ की देखकर दूसरे किसान भी प्रेरित हो रहे है। 


कमा सकते हैं मुनाफा 
जोड़किया के किसान सतबीर ने बताया कि सौंफ की खेती आर्गेनिक तरीके से करते है। इसमें किसी प्रकार की खाद व कीटनाशक की जरूरत नहीं होती। आर्गेनिक तरीके से तैयार सौंफ स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होती है, इसी कारण अधिक लोग आर्गेनिक खाद्य पदार्थों की तरफ आकर्षित रहा है।

 हरियाणा के किसान सतबीर सिंह ने यूट्यूब पर वीडियो देखकर शुरू की सौंफ की खेती, अब ले रहा है मुनाफा
किसान सतबीर ने बताया कि यह आइडिया यूट्यूब पर वीडियो देखी। इसके बाद इस खेती के बारे में जानकार काफी प्रभावित हुआ। इसके बाद फैसला लेकर सौंफ की खेती शुरू कर दी। 

उन्होंने बताया कि जोधपुर से सौंफ का बीज लेकर आया। एक एकड़ में करीबन 800 ग्राम बीज की जरूरत होती है। इस फसल को पककर तैयार होने में करीबन 150-180 दिन का वक्त लगता है। बीए पास कर चुके किसान सतबीर ने बताया कि बाजार में सौंफ की अच्छी खासी डिमांड है। एक एकड़ में करीबन 8 से 10 क्विंटल तक फसल हो जाती है और इसका बाजार भाव 18 से 20 हजार रूपये प्रति क्विंटल आमतौर पर रहता है।

WhatsApp Group Join Now

 हरियाणा के किसान सतबीर सिंह ने यूट्यूब पर वीडियो देखकर शुरू की सौंफ की खेती, अब ले रहा है मुनाफा

किसान सतबीर ने बताया कि उसने एक एकड़ से 2 लाख रुपये की फसल का उत्पादन लिया है। सिरसा जिले में सौंफ की खेती करने वाले इस किसान सतबीर ङ्क्षसह ने बताया कि सौंफ की खेती बहुत ही अधिक मुनाफा देने वाली है, लेकिन इसके बारे में किसानों को ज्यादातर जानकारी नहीं होती, इसलिए किसान पारम्परिक खेती पर निर्भर रहते हैं। 

किसान सतबीर सिंह ने बताया कि  सौंफ की खेती के लिए मीेठे पानी की आवश्यकता होती है, जिसके लिए किसान सतबीर ने खेत में पानी की डिग्गी का निर्माण करवाया। उन्होंने बताया कि सौंफ की फसल तीन सिंचाई में पककर तैयार हो जाती है। इसकी कटाई लगभग अप्रैल माह में हो जाती है।