home page

Haryana: अच्छी पहल की आईएमए ने, बाढ़ पीडि़तों की मददगार बनेगी सिरसा आईएमए सिरसा

आईएमए बाढ़ प्रभावित गांवों में लगाएगी नि:शुल्क चिकित्सा शिविर 

ताजा खबरों, बिजनेस, केरियर व नौकरी संबंधित खबरों के लिए

व्हाट्सअप ग्रुप

से जुड़े

 | 
आईएमए बाढ़ प्रभावित गांवों में लगाएगी नि:शुल्क चिकित्सा शिविर 

mahendra india news, sirsa

हरियाणा में घग्घर नदी से कई जगह पर बाढ़ आई हुई है। इस संकट की घड़ी में सिरसा की आईएमए आगे आई है। क्योंकि पानी बाढ़ के पानी के कारण कई बीमारियों ने भी पांव पसार लिए है। बाढ़ ग्रस्त गांवों में कोई महामारी न फैले, इसके लिए आईएमए सिरसा बाढ़ प्रभावित गांवों में नि:शुल्क चिकित्सा शिविर लगाए जाएंगे। 

 

 

हर संभव की जाएगी मदद
आपको बता दें कि पिछले कई दिनों से घग्घर व बरसात से कई जगह पर जलभराव हो गया है। आईएमए सिरसा के जिला प्रधान डा. दिनेश गिजवानी ने बताया कि बाढ़ पीडि़तों की आईएमए सिरसा की ओर से हर संभव सहायता की जाएगी। आईएमए सिरसा की ओर से वीरवार से बाढ़ ग्रस्त सभी गांवों में मेडिकल जांच शिविर लगाए जाएंगे। 


घग्गर के किनारे बसे गांवों में पानी का पूरा असर रहेगा। बाढ़ के पानी के कारण मासमी बिमारियां अपने पैर पसारेंगी, लेकिन उनका प्रयास रहेगा कि बिमारियों को फैलने से पहले ही रोका जाए। इसके लिए गांवों में लगातार मैडिकल कंैप लगाए जाएंगे और जहां तक हो सकेगा दवाइयां भी नि:शुल्क दी जाएंगी। इसके अलावा किसी ग्रामीण को कोई बड़ी दिक्कत होगी तो आईएमए सिरसा उसका उपचार करवाने का प्रयास करेगी।


ये अस्पताल लगाएंगे कैंप 
आईएमए के स्टेट पैटर्न डा. वेद बैनीवाल ने कहा कि आईएमए से जुड़े कई अस्पतालों संजीवनी, सिटी हैल्थ केयर, वाईके चौधरी, एपेक्स अस्पताल द्वारा गांवों में नि:शुल्क शिविर लगाकर लोगों को राहत प्रदान की जा रही है। उन्होंने बताया कि ये तो ईश्वर की कृपा रही की जिला बाढ़ की विभिषिका से बच गया। लेकिन अभी संकट टला नहीं है। बाढ़ के पानी के कारण लोगों में उल्टी, दस्त, चमड़ी व आंखों के रोगों की समस्या सामने आ रही है। डा. बैनीवाल ने कहा कि समूचा समाज इस आपदा की घड़ी में बाढ़ प्रभावित लोगों की मदद के लिए आ रहा है, ऐेसे में आईएमए सिरसा की जिला इकाई इस विपदा की घड़ी में चाहे कैंप लगाकर या किसी अन्य तरीके से बाढ़ पीडि़तों की हर संभव सहयोग करेगी। 


उन्होंने कहा कि बाढ़ ग्रस्त कोई भी गांव अगर शिविर लगवाना चाहता है तो आईएमए की टीम तैयार है। ऐसी परिस्थितियों में लोगों को डरने की जरूरत नहीं है। जरूरत है तो बस उचित रख रखाव व सफाई व्यवस्था की। आईएमए के सचिव डा. अंकुश मेहता ने कहा कि आईएमए बाढ़ पीडि़तों की सहायता के लिए पूरी तरह से तत्पर है। जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से जो भी संभव सहयोग होगा, किया जाएगा।