home page

हरियाणा में सोशल मीडिया पर लिंक भेजकर ठगी करने वाले बड़े गिरोह का पर्दाफाश, 6 साइबर ठग अरेस्ट

 | 
 हरियाणा में सोशल मीडिया पर लिंक भेजकर ठगी करने वाले बड़े गिरोह का पर्दाफाश, 6 साइबर ठग अरेस्ट
चंडीगढ़, 27 मार्च: प्रदेश के नोडल साइबर थाने ने अलग-अलग मामलों की जांच करते हुए 06 लोगों को साइबर ठगी के मामले में गिरफ्तार किया है। ठगी करने वाले आरोपी अक्सर अलग अलग तरीकों का इस्तेमाल करते हुए ठगी कर रहे थे। जांच में सामने आया कि साइबर ठग, ठगी करने के बाद, ठगी की रकम को अन्य फ़र्ज़ी खातों में भेज रहे थे और वहां से कैश निकलवा रहे थे।

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि नोडल साइबर थाने, पंचकूला ने कार्रवाई करते हुए 4 साइबर ठगो को राजस्थान से गिरफ्तार किया है वहीं अन्य दो आरोपियों में से एक आरोपी को मेवात व एक आरोपी को जींद से गिरफ्तार किया है। 

उन्होंने बताया कि ठग सोशल मिडिया पर अकाउंट बनाकर लोगों को अलग अलग तरीके से लालच दे रहे थे और ब्लैकमेल कर रहे थे। जब इनकी शिकायत साइबर नोडल थाने में पहुंची तो पुलिस द्वारा कार्रवाई की गई है और संगीन धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करते हुए आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

कभी फेक वीडियो बनाकर तो कभी फौजी अफसर बनकर कर रहे थे ठगी

पुलिस प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि राजस्थान से गिरफ्तार साइबर ठग कभी अश्लील वीडियो बनाकर तो कभी खुद को फौजी बताकर ठगी करते है। साइबर नोडल थाने को पंचकूला निवासी पीड़ित ने शिकायत देते हुए बताया था कि उसके पास कॉल आई जिसमें ठग ने खुद को आर्मी अफसर बताया और आर्मी कैंट में योग शिक्षक के तौर पर नौकरी ज्वाइन करने को कहा। 

WhatsApp Group Join Now

साइबर ठग ने एडवांस पेमेंट देने के बहाने गूगल पे आईडी लेकर पीड़ित के साथ 1,99,996 रूपए की ठगी की। जब पीड़ित के खाते में रूपए आने के बजाए, खाते से निकल गए, तब पीड़ित को ठगी का एहसास हुआ। शिकायत मिलने पर साइबर नोडल थाने ने तुरंत शिकायत पर कार्रवाई करते हुए मेवात से साइबर ठग को गिरफ्तार किया। 

वहीं एक अन्य शिकायत में पंचकूला निवासी पीड़ित ने शिकायत दी कि उसके दोस्त के बेटे के साथ अश्लील वीडियो बनाकर और ब्लैकमेल कर 51000 रूपए की ठगी की गई है । एक अन्य शिकायत में इंस्टाग्राम आईडी बनाकर बाइक बेचने और कुरियर करने के लिए पीड़ित को बातों में उलझा कर उससे तक़रीबन 90000 रुपये की ठगी को अंजाम दिया गया।

एसपी साइबर क्राइम अमित दहिया ने बताया कि उक्त दोनों शिकायतों पर साइबर नोडल थाने ने तुरंत कार्रवाई करते हुए राजस्थान से 4 साइबर ठगों को, एक को मेवात से व अन्य एक को जींद से गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने आरोपियों को अदालत में पेश किया है और आगे की कार्रवाई कर रही है।

नौकरी के प्रलोभन, टेलीग्राम टास्क और इंटरनेट पर अधिकारी बनकर सामान बेचने वालों से रहे सावधान : एडीजीपी साइबर

प्रदेश में साइबर की कमान संभाल रहे एडीजीपी साइबर ओ. पी. सिंह , आईपीएस ने बताया कि आम जनता को साइबर ठगी के नए नए तरीकों के बारे में जागरूक होने की ज़रूरत है। 

वहीं साइबर हेल्पलाइन 1930 पर हरियाणा पुलिस की टीम 24 घंटे कार्यरत है। यदि लोग साइबर ठगी को समझ लेते है तो इस प्रकार के अपराध से काफी हद तक बचाव किया जा सकता है। 

लेकिन फिर भी अगर पीड़ित ठगी का शिकार हो जाते है तो तुरंत अपनी शिकायत जल्द से जल्द साइबर हेल्पलाइन नंबर -1930 पर दें। साइबर ठग अक्सर सोशल मिडिया पर अकाउंट बनाकर ठगी को अंजाम दे रहे है। कभी टेलीग्राम पर टास्क करने पर पैसे देने का लालच देते है तो कभी इंटरनेट पर फौजी बनकर कम रेट पर बाइक या गाडी बेचने का लालच देते है। इसके अलावा फौजी बनकर नौकरी के प्रलोभन से भी सावधान रहने की ज़रूरत है।

प्रदेश पुलिस  द्वारा हर महीने के प्रथम बुधवार को साइबर जागरूकता दिवस मनाया जा रहा है। इसके अलावा भी प्रदेश पुलिस इंस्टाग्राम व सोशल मिडिया प्लेटफार्म "एक्स" पर जागरूकता की वीडियो बना रही है। 

उन्होंने बताया कि प्रदेश में वर्तमान में प्रतिदिन ठगी से पीड़ितों की रोज़ाना 1500 से अधिक कॉल आ रही है, जिसपर तुरंत कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने आमजन से अपील करते हुए कहा कि वह किसी भी प्रकार के प्रलोभन में ना आए और सतर्क रहें।