home page

हरियाणा में हसला ने बोर्ड़ परीक्षाओं में निजी स्कूलों के मुखिया को सुपरिंटेंडेंट बनाने का किया कड़ा विरोध

प्रायोगिक परीक्षाओं के निरीक्षक को ड्यूटी स्टेशन पर 12 घंटे से ज्यादा के ठहराव पर मिलेगा 500 रुपये डीए क्लेम

ताजा खबरों, बिजनेस, केरियर व नौकरी संबंधित खबरों के लिए

व्हाट्सअप ग्रुप

से जुड़े

 | 
 प्रायोगिक परीक्षाओं के निरीक्षक को ड्यूटी स्टेशन पर 12 घंटे से ज्यादा के ठहराव पर मिलेगा 500 रुपये डीए क्लेम

mahendra india news, new delhi

हरियाणा में हसला (हरियाणा स्कूल लेक् च राररर्स एसोसिएशन) प्रदेश प्रधान सतपाल सिंधु की अध्यक्षता में फरवरी 2024 में शुरू हो रही बोर्ड़ परीक्षाओं, ऑनलाइन डिजिटल मार्किंग, मानदेय, एनरोलमेंट एवं अध्यापकों से जुड़े अन्य मुद्दों को लेकर बोर्ड चेयरमैन डॉ. VP यादव एवं सम्बंधित शाखाओं के अधिकारियों के साथ मीटिंग हुई जिसमें निम्नलिखित मुद्दों पर चर्चा हुई।


इस बैठक में प्रदेश महासचिव अमित मनहर, प्रदेश वित्त सचिव पवन मोर, प्रदेश प्रवक्त्ता राजेश देशवाल, अजीत चंदेलिया, सुरेन्द्र परमार, प्रदीप लौरा, महेन्द्र मान, रविंद्र भाकली, अजेन्द्र कुण्डू जिला प्रधान पानीपत, राकेश दलाल जिला प्रधान रोहतक, अत्तर सिंह मलिक जिला प्रधान भिवानी, विक्रम कालीरमन ज़िला प्रधान हिसार, रणधीर सिंह ज़िला महासचिव हिसार, सतपाल पारीक कार्यकारी जिला प्रधान सिरसा, कृष्ण सिवाच उप प्रधान सिरसा, जय सिंह थोरी कोषाध्यक्ष सिरसा, प्रवीण कुमार सचिव सिरसा, सुनील मलिक, अशोक कुमार ब्लॉक प्रधान भिवानी, श्याम सुन्दर संरक्षक भिवानी उपस्थित रहे।

यदि बोर्ड़ की वार्षिक परीक्षाओं के बीच में एक दिन की छुट्टी हैं तो ड्यूटी स्टाफ को स्कूल में उपस्थिति दर्ज नहीं करानी पडेगी। ऑब्ज़र्वर और सुपरिंटेंडेंट की ड्यूटी सब-डिवीजन स्तर एवं डिप्टी सुपरिंटेंडेंट की ड्यूटी ब्लॉक स्तर पर लगाई जाएगी। स्टाफ स्टेटमैंट को अपडेट करने के लिए परीक्षाओं से 15 दिन पहले बोर्ड़ पोर्टल दोबारा से खोला जाएगा ताकि डीडीओ/सीसीएल/मैटरनिटी पर गए अध्यापकों की डयूटी ना लगाई जाए। 

उन्होंने कहा कि सभी प्रकार की डयूटी वरीयता के आधार पर लगाई जाएंगी। अबकी बार बोर्ड़ परीक्षाओं में विद्यार्थियों के सत्यापन के लिए क्यू आर कोड प्रणाली का प्रयोग किया जाएगा एवं ओपन बोर्ड़ परीक्षाओं में 45 मिनट पहले परीक्षार्थियों की उपस्थिति अनिवार्य की जाएगी और प्रत्येक कमरे में ड्यूटी दे रहे निरीक्षक को मोबाइल फोन देकर परीक्षार्थियों को सत्यापित करने का कार्य किया जाएगा ताकि प्रतिरूपण के मामलों को पहले ही पकड़ा जा सके। बोर्ड़ परीक्षाओं में विभिन्न प्रकार की ड्यूटी मानदेय को बढ़ाने पर सहमति बनी। 


हरियाणा बोर्ड़ चेयरमैन ने स्टॉफ स्टेटमेंट में पद और अनुभव आदि की गलत जानकारी भरने वाले स्कूल प्रिंसिपल को चार्जशीट करने की सिफारिश करने के निर्देश दिए। बोर्ड़ की प्रायोगिक परीक्षाओं में लगे प्राध्यापक ड्यूटी स्टेशन पर 12 घण्टे से ज्यादा का ठहराव दिखाकर 5 सौ रुपये डीए क्लेम कर सकेंगे। अगर किसी सेंटर सुपरिंटेंडेंट को प्रश्न पत्र का केंद्र दूर पड़ता है और वो अपने नजदीकी सेंटर से प्रश्न पत्र लेना चाहता है तो वो लिखित प्रार्थना पत्र देकर अपना केंद्र बदलवा पाएगा।

बोर्ड द्वारा डिजिटल मार्किंग ड्यूटी लगाने से पहले अध्यापकों की सहमति लेने का प्रयास किया जाएगा और पहले दिन अध्यापकों को ऑनलाइन मार्किंग के प्रशिक्षण के साथ प्रत्येक अध्यापक को निजी तौर पर मार्किंग प्रशिक्षण की वीडियो भेजी जाएगी मार्किंग से पहले वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रशिक्षित किया जाएगा।ऑनलाइन मार्किंग में प्रत्येक दिन 30 उत्तरपुस्तिकाए चेक करने के निर्देशों पर संगठन ने विरोध दर्ज कराया और केवल 20 उत्तरपुस्तिकाए चेक कराने की मांग रखी। मार्किंग से सम्बंधित मानदेय बढ़ाने की मांग पर बोर्ड़ चेयरमैन ने सकारात्मक आश्वासन दिया। मार्किंग में उन्ही अध्यापकों की डयूटी लगाई जाएगी जो सम्बंधित कक्षा को लगातार पिछले 3 साल से पढ़ा रहा हो। मार्किंग में हेड एग्जामिनर को दोबारा निरीक्षण के लिए सम्बंधित सेंटर पर मार्किंग कर रहे सब एग्जामिनर की ही उत्तरपुस्तिकाए उपलब्ध कराई जाएगी। सिंगल एग्जामिनर की व्यवस्था को कम से कम प्रयोग में लाया जाएगा।

यदि किसी विद्यालय में एग्जाम फॉर्म भरते समय कुछ छात्र एग्जाम फॉर्म भरने से वंचित रह जाते हैं तो वो विद्यालय वंचित रहे छात्रों के फॉर्म और फीस दूसरी क़िस्त में भी बिना जुर्माने जमा करा सकेगा। एनरोलमेंट रिटर्न्स में अब जन्मतिथि सहित किन्ही भी तीन मदों की गलतियां बिना जुर्माने ऑनलाइन ठीक कराने पर सहमति बनी। संगठन ने प्रत्येक प्रकार की डयूटी से सम्बंधित टीए/डीए बारे स्पष्ट दिशा निर्देश जारी करने की मांग रखी।

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड़ की प्रत्येक ड्यूटी से सम्बंधित भुगतान के लिए ऑनलाइन एकीकृत भुगतान प्रणाली अमल में लाई जाएगी ताकि समय पर मानदेय का भुगतान हो सके। संगठन ने बोर्ड़ परीक्षाओं में प्राइवेट स्कूलों में बनाए गए केंद्र पर उसी विद्यालय के मुखिया को सेंटर सुपरिंटेंडेंट एवं उसी विद्यालय के स्टाफ की ड्यूटी लगाने का कड़ा विरोध दज़र् कराया। बोर्ड़ परीक्षाओं के उड़नदस्ते में सेवानिवृत्त कर्मचारियों की डयूटी ना लगाने पर सहमति बनी। प्रायोगिक परीक्षाओं में बाह्य व आंतरिक प्रशिक्षक के मानदेय बढ़ोतरी पर बोर्ड़ चेयरमैन ने सकारात्मक रुख रखा।