home page

ठंड के मौसम में 6 आसान उपाय अपनाएं तो नहीं होगा हार्ट अटैक खतरा, जानिए कैसे बचे हार्ट अटैक से

सर्दियों के मौसम में लोगों को दिल की बीमारियों का खतरा अधिक होता है

ताजा खबरों, बिजनेस, केरियर व नौकरी संबंधित खबरों के लिए

व्हाट्सअप ग्रुप

से जुड़े

 | 
सर्दियों के मौसम में लोगों को दिल की बीमारियों का खतरा अधिक होता है

mahendra india news, new delhi

ठंड के मौसम में सेहत का ध्यान रखना बहुत जरूरी हो जाता है। इस मौसम में हार्ट अटैक के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं। मेडिकल एक्सपर्ट का दावा है कि सर्दियों के मौसम में दिल की बीमारियों का खतरा अधिक होता है। आपको बता दें कि सर्दियों में हार्ट अटैक के मामले बढ़ने के कई कारण और फैक्टर हो सकते हैं, लेकिन कुछ लाइफस्टाइल टिप्स का पालन करने से आपके खतरे को कम करने में मदद मिल सकती है। 

आंकड़ों के अनुसार, सर्दियों में हार्ट अटैक के मामले 30फीसदतक बढ़ जाते हैं। 

इस मौसम में सिकुड़ती हैं नसें
आपको बता दें कि ठंड के मौसम में बॉडी का तापमान बनाए रखने के लिए नसे सिकुड़ जाती हैं। इससे ब्लड प्रेशर बढ़ता है और दिल को अधिक मेहनत करनी पड़ती है, इससे हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है। 


खतरा खून के थक्का जमने का
आपको बता दें कि ठंड में शरीर में थक्का जमने की प्रक्रिया तेज हो जाती है। खून का थक्का नसों को ब्लॉक कर सकता है, इससे दिल को खून नहीं मिल पाता और हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है। 

शारीरिक गतिविधि होती है कम
बता दें कि इस ठंड के कारण अक्सर घर के अंदर लोग रहना पसंद करते हैं, इससे शारीरिक गतिविधि कम हो जाती है। शारीरिक गतिविधियां नहीं करना दिल की सेहत के लिए हानिकारक है और हार्ट अटैक के खतरे को बढ़ाती है। 

पर्यावरण प्रदूषण का असर
ये भी देखने में आया है कि सर्दियों में हवा में प्रदूषण का लेवल बढ़ जाता है, जो फेफड़ों को नुकसान पहुंचाता है और दिल पर भी बुरा असर डालता है। इस प्रदूषण के कारण सूजन बढ़ती है और ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है, इससे हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है।


ये है बचाव के उपाय
इस ठंड के मौसम में भी हल्का-फुल्का व्यायाम जरूर करें. तेज चलना, सीढ़ियां चढ़ना, घर पर योग करना आदि व्यायाम से दिल हेल्दी रहता है। 
इस मौसम में फैटी और मीठी चीजों का सेवन कम करें और फलों, सब्जियों और साबुत अनाज को अपनी डाइट में शामिल करें। 
इस ठंड से बचाव के लिए गर्म कपड़े पहनें और बॉडी का तापमान बनाए रखें.
 नियमित रूप से चिकित्सक से जांच कराएं और अपनी दवाइयां वक्त पर लें.
 धूम्रपान दिल की सेहत के लिए बहुत हानिकारक है. इसे तुरंत छोड़ दें.
 टेंशन भी दिल पर बुरा असर डालता है, तनाव कम करने के लिए योग, ध्यान या गहरी सांस लेने के व्यायाम करें।