home page

सिरसा के गांव दड़बा कलां में ग्रामीणों ने ये मांग पूरी नहीं होने लोकसभा चुनाव के बहिष्कार का किया ऐलान, स्टेट हाइवे किया जाम...

 | 
 सिरसा के गांव दड़बा कलां में ग्रामीणों ने ये मांग पूरी नहीं होने लोकसभा चुनाव के बहिष्कार का किया ऐलान, स्टेट हाइवे किया जाम...

Haryana News : हरियाणा के सिरसा जिले में गांव दड़बा कलां में 2 मई को हुई चोरी की गुत्थी पुलिस द्वारा नहीं सुलझाने पर ग्रामीणों में वीरवार को रोष फैल गया। चुनाव से पहले चोरों को नहीं पकड़ने पर ग्रामीणों ने गांव में बैठक कर लोकसभा चुनाव का बहिष्कार करने का फैसला लिया। इसी के साथ ही ग्रामीणों ने सिरसा भादरा स्टेट हाइवे पर दो घंटे तक जाम लगा दिया। 

जाम लगाने की सूचना मिलने पर DSP सुभाष चंद्र व चौपटा थाना प्रभारी सत्यवान मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों ने 20 मई तक चोरी की गुत्थी नहीं सुलझाने पर फिर से जाम लगाने की चेतावनी पुलिस को दी।

2 मई को हुई घटना

गांव निवासी सूची देवी बैनीवाल 2 मई को घर पर सो रही थी। इसी दौरान रात्रि को करीब एक बजे अज्ञात व्यक्ति घर पर आ गये। इसके बाद उन्होंने सूची देवी के हाथों में पहने सोने के छह तौला के दो कड़े, एक अंगूठी और 37 हजार रुपये की नगदी ले।

WhatsApp Group Join Now

इसी के साथ ही उन्होंने सूची देवी के चोट मारकर घायल कर दिया। घटना को अंजाम देने के बाद मौके से फरार हो गये। इस घटना के बाद सूची देवी ने स्वजनों को इस बारे में सूचना दी। इसके बाद घटना की सूचना चौपटा थाना पुलिस को दी। 

ग्रामीणों में रोष 

घटना के बाद भी पुलिस द्वारा आरोपित नहीं पकड़े गये। इस पर ग्रामीणों ने वीरवार सुबह करीबन 8 बजे बैठक की। इस बैठक में ग्रामीणों ने हाथ उठाकर फैसला लिया कि जब तक पुलिस चोरी की गुत्थी नहीं सुलझाएगी।

ग्रामीणों चुनावों का बहिष्कार करेंगे। इसके बाद ग्रामीणों ने करीबन 9 बजे दड़बा कलां बस स्टैंड पर पहुंचे। इसके बाद सिरसा भादरा रोड पर जाम लगा दिया। जाम लगाने से वाहनों की लंबी लाइन लग गई। 

मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारी 

जाम लगाने की सूचना मिलने पर डीएसपी सुभाष चंद्र, चौपटा थाना प्रभारी सत्यवान, सुरक्षा इंचार्ज प्रेम कुमार मौके पर पहुंचे। पुलिस अधिकारियों ने जल्द ही चोरी की गुत्थी सुलझाने का आश्वासन दिया। मगर ग्रामीण बोले जब तक आरोपित नहीं पकड़े जाएंगे।

तभी तक जाम लगाकर रखेंगे। पुलिस के बार बार अनुरोध पर बाद में ग्रामीणों ने 20 मई तक आरोपितों को पकड़ने की बात कही। इसके बाद फिर से जाम लगाने की चेतावनी। इसके दो घंटे बाद जाम को खोल दिया गया।