home page

हरियाणा के इस जिले में अध्यापक ने स्वयं को महिला टीचर और गर्भवती बताते हुए लोकसभा चुनाव ड्यूटी कटवाई, डीसी ने जांच कमेटी की गठित

 | 
हरियाणा के इस जिले में अध्यापक ने स्वयं को महिला टीचर और गर्भवती बताते हुए लोकसभा चुनाव ड्यूटी कटवाई, डीसी ने जांच कमेटी की गठित
 mahendra india news, new delhi

हरियाणा में लोकसभा चुनाव 25 मई को होने जा रहे हैं। इसी को लेकर जिला प्रशासन कर्मचारियों व अधिकारियों की चुनाव ड्यूटी लगाई जा रही है। इस चुनाव में ड्यूटी बचने के लिए ऐसा मामला सामने आया है। जिसे सुनकर आप भी हैरान हो जाएंगे। हरियाणा में जींद के डाहौला स्थित राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल के पीजीटी पुरुष अध्यापक ने स्वयं को गर्भवती महिला दिखा लोकसभा चुनाव ड्यूटी क टवा ली। 


इस मामले का खुलासा तब हुआ जब अध्यापक सतीश कुमार की कहीं भी डयूटी नहीं लगी और सॉफ्टवेयर ने गर्भवती महिला होने पर डाटा नहीं उठाया। स्कूल द्वारा जिला प्रशासन के पास भेजे गए कर्मचारियों के डाटा में पीजीटी हिंदी के पद पर कार्यरत शिक्षक सतीश कुमार को न केवल महिला कर्मचारी दिखाया गया बल्कि उसे गर्भवती होना भी दर्शाया है।

WhatsApp Group Join Now


आपको बता दें कि इस बारे में जींद जिला के जब जिला निर्वाचन अधिकारी एवं डीसी मोहम्मद इमरान रजा के समक्ष आया। इसके बाद डीसी ने तुरंत प्रभाव से जांच कमेटी गठित कर दी। इस मामले को निर्वाचन आयोग और शिक्षा विभाग के उच्चाधिकारियों के पास भी रिपोर्ट भेजी जाएगी। 

जिला उपायुक्तमोहम्मद इमरान रजा ने गुरुवार को इस मामले में सीधे रूप से जुड़े पीजीटी सतीश कुमार, प्राचार्य अनिल कुमार और कंप्यूटर ऑप्रेटर मंजीत को अपने कार्यालय में तलब किया गया। उनसे मामले के बारे में यह पूछा लेकिन तीनों ने इसमें अपनी अनभिज्ञता जाहिर कर दी। 


डीसी ने जांच कमेटी बनाई 
इस मामले के बाद जींद जिला के उपायुक्तमोहम्मद इमरान रजा ने बताया कि कर्मचारी चुनावी ड्यूटी से बचने के लिए इस तरह का कदम भी उठा सकते हैं। इस मामले में नगराधीश एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी नमिता कुमारी की अध्यक्षता में एक जांच कमेटी बनाई गई है। जांच कमेटी द्वारा इस सारे केस की छानबीन की जाएगी। इस मामले में जो भी दोषी होगा। उसके  खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ-साथ इस केस की रिपोर्ट शिक्षा विभाग और निर्वाचन आयोग के पास में ही भेजी जाएगी।