home page

मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल किसानों के लिए बना अभिशाप, पोर्टल के नाम पर किसानों से की जा रही है धोखाधड़ी औलख


किसान नेता ने इसलिए जताया एतराज 

 | 
 किसान नेता

mahendra india news, new delhi

हरियाणा में भारतीय किसान एकता बीकेई के हरियाणा प्रदेशाध्यक्ष लखविंदर सिंह औलख ने कहा है कि हरियाणा सरकार ने पोर्टल रूपी काला कानून किसानों पर थोप रखा है। रविवार को जारी बयान में औलख ने कहा है कि सरकार व प्रशासन के शातिर लोग मिलकर किसानों से पोर्टल के माध्यम से ठगी कर रहे हैं। ऐसे कई मामले हरियाणा में आ रहे हैं। इस संबंधी नत्था सिंह झोरड़ रोही बीकेई हलका प्रधान कालांवाली ने रोड़ी थाना में एक शिकायत दर्ज करवाई है, जिसमें देसू खुर्द गांव के कई किसानों की सैकड़ों एकड़ फसल का पंजीकरण मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर गलत तरीके से (ट्रयूकॉलर पर नाम सीमा रावत) ने अपने नाम करवा लिया है। 

देसू खुर्द निवासी लाभ सिंह, दर्शन सिंह, बंता सिंह, करनैल सिंह, जगतार सिंह व अमृतपाल सिंह सहित कई किसानों की फसल का पंजीकरण दोषीगण ने अपने नाम करवा लिया है। अब यह किसान अपनी फसल नहीं बेच पा रहे हैं, जिस पर नथा सिंह ने रोड़ी थाना में 13 अक्तूबर 23 को दर्ज करवाई है। 

WhatsApp Group Join Now


किसान नेता ने कहा कि ऐसे शातिर लोग भोले-भाले किसानों के साथ धोखाधड़ी कर रहे हैं। अगर वाक्य में ही सरकार व प्रशासन पोर्टल के प्रति ईमानदार हैं तो तुरंत प्रभाव से दोषीगण पर मामला दर्ज करके सलाखों के पीछे भेजा जाए व किसानों को इंसाफ  दिलवाया जाए। पीडि़त किसानों की फसल का पंजीकरण पोर्टल पर किया जाए, जिससे कि वह अपनी फसल बेचने के साथ-साथ सभी तरह के अनुदान के हकदार बन सकें। 

किसान नेता औलख ने कहा कि यह एक बहुत बड़ा घोटाला है, जिसमें कई अधिकारी व राईस शैलर मालिक मिलकर किसानों के साथ धोखाधड़ी कर रहे हैं। अगर प्रशासन इस पर समय रहते कोई सख्त कार्रवाई नहीं करता है तो मजबूरन संघर्ष का रास्ता अपनाना पड़ेगा।