home page

सिरसा जिले के गांव बुर्जभंगु व गुसाईआना में होगा गैर आवासीय जांभाणी संस्कार शिविरों का आयोजन

 | 
 सिरसा जिले के गांव बुर्जभंगु व गुसाईआना में होगा गैर आवासीय जांभाणी संस्कार शिविरों का आयोजन 

mahendra india news, new delhi

हरियाणा के सिरसा जिले में गांव बुर्जभंगु व गुसाईआना में क्रमश: 2 जून से 6 जून व 1 जून से 5 जून तक गैर आवासीय जांभाणी संस्कार शिविरों का आयोजन किया जाएगा। विगत वर्षों में आवासीय शिविर आयोजित करने की बजाय इस बार ग्रीष्मकालीन अवकाश में बिश्नोई सभा सिरसा, जांभाणी साहित्य अकादमी बीकानेर के संयुक्त तत्वावधान में तथा ग्रामीणों के सहयोग से जिले के गांव बुर्जभंगु व गुसाईआना में क्रमश: 2 जून से 6 जून व 1 जून से 5 जून तक गैर आवासीय जांभाणी संस्कार शिविरों का आयोजन किया जाएगा। 

सभा की कोर कमेटी की बैठक प्रधान खेमचंद बैनीवाल की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में इन शिविरों को सफल बनाने व सभा द्वारा हर संभव सहयोग देने का आश्वासन दिया गया। सभा के सचिव ओपी बिश्नोई ने बताया कि इन शिविरों में समाज की किशोरावस्था 1& से 17 आयु के बालक-बालिकाओं को श्री गुरु ज भेश्वर भगवान के जीवन चरित्र, उनकी वाणी, 29 धर्म नियमों, बिश्नोई पंथ के इतिहास, समाज के रीति-रिवाजों व परंपराओं के अतिरिक्त हवन-यज्ञ विधि, योग-प्राणायाम, भोजन व स्वास्थ्य, आदर्श विद्यार्थी दिनचर्या, व्यक्तित्व विकास व कैरियर गाइडेंस की जानकारी दी जायेगी। 

WhatsApp Group Join Now

सभा के सचिव ओपी बिश्नोई ने बताया कि पंजीकरण प्रक्रिया चल रही है। अत: जिज्ञासु ब'चे अपना ऑनलाइन पंजीकरण करवा सकते हंै या सहायता हेतू बुर्जभंगु शिविर प्रभारी सुनीता व गुसाईआना शिविर प्रभारी सुरेंद्र कसवां से संपर्क कर सकते हंै। उन्होंने बताया कि आने वाले वर्षों में सभा अन्य बिश्नोई-बाहुल्य गांवों में भी ऐसे गैर आवासीय शिविर के आयोजन करने पर विचार करेगी। 

सभा के सचिव ओपी बिश्नोई ने बताया कि शिविर में बच्चे सफेद कुर्ता-पजामा व सफेद सलवार-कमीज पहन कर आयेंगे। बच्चे को शिविर में लाने व ले जाने की व्यवस्था अभिभावकों द्वारा की जायेगी। शिविर में बच्चे के लिए भाषण, निबंध, गायन, चित्रकला व लिखित परीक्षा जैसी प्रतियोगिताएं होंगी। इन प्रतियोगिताओं में उत्कृष्ट स्थान प्राप्त करने वाले शिविरार्थियों को स मानित किया जाएगा। शिविर में नगद राशि व किसी प्रकार का सहयोग करने वाले समाज के दान दाताओं को भी स्वागत किया जाएगा।