home page

सिरसा मेजर नहर से डेरा के लिए मंजूर किए गए मोघे का विरोध, धरना शुरू

चेतावनी, मोघा रद्द नहीं किया गया तो होगा आंदोलन

ताजा खबरों, बिजनेस, केरियर व नौकरी संबंधित खबरों के लिए

व्हाट्सअप ग्रुप

से जुड़े

 | 
चेतावनी, मोघा रद्द नहीं किया गया तो होगा आंदोलन

mahendra india news, new delhi

हरियाणा के सिरसा में सिरसा मेजर नहर से सिंचाई विभाग की तरफ से पास किए गए मोघे के विरोध में दर्जनों गांवों के ग्रामीणों द्वारा संयुक्त किसान मोर्चा के नेतृत्व में धरना शुरू कर दिया है। इस मोघे के कारण गांव बाजेकां, फूलकां, अलीमोहम्मद, नेजिया, चाडीवाल, बेगू, सिकंदरपुर, वैदवाला, कंगनपुर, खाजाखेड़ा व रंगड़ी सहित दर्जनों गांव प्रभावित होंगे। 


सिरसा के बाजेकां से प्रधान गुरादिता, भजनलाल, दलीप, बाजेकां से लेखराज, वरयाम चंद, पप्पूराम, प्रकाश भुकर, रमेश, फूलकां से जगतपाल, मदनलाल, संदीप कुलडिय़ा, साधु, मनदीप, माडूराम, रामकिशन फौजी वैदवाला, जयमल सिकंदरपुर, लक्ष्मण बाजेकां, पृथ्वी डेलू अलीमोहम्मद ने बताया कि पब्लिक हैल्थ विभाग की ओर से सिरसा मेजर नहर से डेरा सच्चा सौदा के लिए मोघा डालने की अनुमति दी गई है, जोकि कतई उचित नहीं है। उन्होंने कहा कि एक तो पहले ही नहर में पानी की सप्लाई कम आती है और इतने गांवों में पेयजल की आपूर्ति बमुश्किल से हो रही है। 

अगर डेरा सच्चा सौदा को इसका पानी दिया गया तो इन गांवों में पानी का संकट खड़ा हो जाएगा। ग्रामीणों ने कहा कि डेरे के पास तो और भी बहुत सारे विकल्प है, लेकिन ग्रामीणों के पास इस नहरी पानी के अलावा और कोई विकल्प नहीं है। ग्रामीणों ने मांग की है कि इस मोघे को तुरंत प्रभाव से रद्द किया जाए। ग्रामीणों ने साथ ही चेतावनी भी दी कि अगर मोघे को रद्द नहीं किया गया तो ग्रामीणों को बड़े आंदोलन के लिए मजबूर होना पड़ेगा, जिसके लिए पब्लिक हैल्थ विभाग जिम्मेवार होगा।