home page

वरिष्ठ भाजपा नेता गोबिंद कांडा ने श्री नीलकंठ समाजसेवा ट्रस्ट को भंडारे के लिए भेंट की 51000 रुपये की धनराशि

धर्म ध्वजा दिखाकर गोबिंद कांडा ने भंडारे के लिए खाद्य सामग्री से लदे दो ट्रक किए रवाना
 

ताजा खबरों, बिजनेस, केरियर व नौकरी संबंधित खबरों के लिए

व्हाट्सअप ग्रुप

से जुड़े

 | 
धर्म ध्वजा दिखाकर गोबिंद कांडा ने भंडारे के लिए खाद्य सामग्री से लदे दो ट्रक किए रवाना

mahendra india news, new delhi
हरियाणाा के सिरसा में श्री नीलकंठ समाजसेवा ट्रस्ट सिरसा की ओर से  नीलकंठ महादेव मंदिर नीलकंठ (ऋषिकेश )के प्रांगण में तीन दिवासीय 1 जनवरी तक 23 वां वार्षिक भंडारा लगाया जाएगा। वरिष्ठ भाजपा नेता गोबिंद कांडा ने खाद्य सामग्री से लदे दो ट्रको को  धर्मध्वजा दिखाकर रवाना किया साथ ही उन्होंने  ट्रस्ट पदाधिकारियों को 51000 रुपये की सहयोग राशि भंडारे के लिए प्रदान की।


वरिष्ठ भाजपा नेता एवं श्री बाबा तारा जी कुटिया के मुख्य सेवक गोबिंद कांडा मौक पर पहुंचे। उनके साथ नगर परिषद सिरसा की पूर्व चेयरपर्सन रीना सेठी, नितिन सेठी, महेंद्र सिंह, अलिशबा, पूनम सेठी, ओनिक आदि मौजूद थे।
गोबिंद कांडा ने विधिवत रूप से पूजा अर्चना की और नारियल फोडक़र धर्मध्वजा दिखाकर खाद्य सामग्री से लदे ट्रकों को नीलकंठ के लिए रवाना किया। उन्होंने कहा कि ट्रस्ट की ओर से लंबे अरसे से लावारिस अस्थियों का विर्सजन हरिद्वार में किया जाता है। जो बड़े ही पुण्य का कार्य है।


ट्रस्ट की ओर से दोनों शिवरात्रि के अवसर पर शिवपुरी सिरसा में भंडारे लगाए जाते है इसके साथ ही अन्य समाजहित के कार्य भी किए जाते है। ट्रस्ट द्वारा एंबुलेंस सेवा भी शुरू की गई है। उन्होंने कहा कि ट्रस्ट के पदाधिकारी बधाई के पात्र हैं। उन्होंने  ट्रस्ट पदाधिकारियों को 51000 रुपये की सहयोग राशि भंडारे के लिए प्रदान की।


श्री नीलकंठ समाजसेवा ट्रस्ट सिरसा की ओर से  नीलकंठ महादेव मंदिर नीलकंठ (ऋषिकेश )में आयोजित होने वाले भंडारे के लिए खाद्य सामग्री से लदे दो ट्रक श्री बाबा तारा जी कुटिया परिसर में पहुंचे। इस मौके पर ट्रस्ट के प्रधान अशोक सलुजा,सरंक्षक वीना मुंजाल,  कोषाध्यक्ष शुभकरण रातुसरिया, उप प्रधान लक्की मेहता, सचिव जनक दाबड़ा, सह कोषाध्यक्ष राजेंद्र चावला, लंगर प्रधान मंगतराय मुंजाल, कार्यकारिणी सदस्य वेदप्रकाश कामरा, तरुण गर्ग, केशव मुंजाल सुरेंद्र बब्बर बिशम्बर खुंगर निर्मल कांडा राज फु टेला आदि  आए हुए थे।