home page

सिरसा के विधायक गोपाल कांडा ने कहा अयोध्या के बाद सिरसा में 22 जनवरी को होगा भव्य एवं ऐतिहासिक आयोजन

ऐतिहासिक पल के साक्षी बनने के लिए हर घर में प्रज्जवलित करें दीपक, मनाएं भव्य दीवाली:गोपाल कांडा

ताजा खबरों, बिजनेस, केरियर व नौकरी संबंधित खबरों के लिए

व्हाट्सअप ग्रुप

से जुड़े

 | 
ऐतिहासिक पल के साक्षी बनने के लिए हर घर में प्रज्जवलित करें दीपक, मनाएं भव्य दीवाली:गोपाल कांडा

mahendra india news, new delhi

हरियाणा में सिरसा के विधायक, पूर्व गृहराज्यमंत्री एवं हलोपा सुप्रीमो गोपाल कांडा ने कहा कि 22 जनवरी को अयोध्या में श्रीराम विग्रह प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव का भव्य आयोजन होगा जिस पर पूरी दुनियां की निगाह लगी हुई है, इस महोत्सव को लेकर  22 जनवरी को  सिरसा में विभिन्न धार्मिक-सामाजिक-व्यापारिक और अन्य  संस्थाओं की ओर से भव्य एवं ऐतिहासिक शोभायात्रा का आयोजन किया जाएगा। इसमें 60 झांकियां, ऊंट, घोड़े, हाथी और अनेक ढोल-बैंड पार्टियां शामिल होंगी। 


SIRSA के विधायक गोपाल कांडा ने बताया कि इस यात्रा में 11 फुट की भगवान श्रीराम की प्रतिमा आकर्षण का केंद्र होगी। यात्रा में 5100 महिलाएं और पुरूष श्रद्धालु धर्म ध्वजाएं लेकर चलेंगे। इसके साथ ही श्री बाबा तारा जी कुटिया में 31 फुट ऊंची भगवान श्रीराम की मूर्ति का अनावरण होगा और 31000 दीपक प्रज्जवलित किए जाएंगे। सर्वसमाज और सर्व धर्म लोगों को इस ऐतिहासिक पल का साक्षी बनना चाहिए। घरों में दीप जलाकर भव्य दीवाली मनाए।


SIRSA में पत्रकारों से बातचीत करते हुए विधायक गोपाल कांडा ने कहा है कि PM नरेंद्र मोदी की वजह से देशवासियों को इस ऐतिहासिक पल का साक्षी बनने का सुअवसर मिल रहा है, रामलला टेंट से निकलकर अपने भव्यमंदिर में विराजेंगे। इस पल को देखने के लिए विश्व भर के लोगों की निगाहें अयोध्या पर लगी हुई है।

उन्होंने कहा कि अयोध्या के बाद अगर कही कोई भव्य आयोजन होगा तो वह निश्चित तौर पर SIRSA ही होगा क्योंकि जो आयोजन सिरसा में होने जा रहा है वह भी भव्य होगा ऐतिहासिक होगा। उन्होंने कहा कि इस साल लोगों को दो दीवाली मनाने का मौका मिल रहा है एक दीवाली 22 जनवरी को तो दूसरी दीवाली अपने निर्धारित समय पर मनाई जाएगी। उन्होंने कहा कि सिरसा में निकाली जाने वाली शोभायात्रा में  सर्वसमाज  शामिल होगा। उन्होंने आह्वान किया कि SIRSA के घर घर दीवाली मननी चाहिए। उन्होंने कहा कि  22 जनवरी के दीपोत्सव  के लिए उनकी ओर से   व्यवस्था की जा रही है।   

SIRSA के तारकेश्वर धाम से हर घर  एक विशेष डिब्बा पहुंचाया जा रहा है जिसमें  पांच दीपक, बत्तियां, तेल की बोतल, शोभायात्रा का मैप और कैलेंडर शामिल है।  उन्होंने कहा कि लोगों में इतना उत्साह दिखाई दे रहा है कि  सिरसा से रामलला के जयकारों की गूंज अयोध्या तक पहुंचेगी।


उन्होंने कहा कि SIRSA उनका परिवार है लोगों का बडप्पन है कि उनका आशीर्वाद सदा उन पर बना रहा है ये प्रेम प्यार, भाईचारा सदा बना रहेगा। उन्होंने कहा कि यह शोभायात्रा महाराजा अग्रसेन स्कूल से शुरू होगी और स्कूल में अयोध्या से सीधा प्रसारण दिखाने की व्यवस्था की गई है, अयोध्या में आरती संपन्न होने के बाद यह यात्रा शुरू होगी जो श्री तारकेश्वरम धाम मे जाकर संपन्न होगी। जहां पर भगवानश्रीराम की 31 फुट ऊंची मूर्ति का अनावरण होगा और वहां पर 31 हजार दीप प्रज्जवलित किए जाएंगे, भजन संध्या और भंडारे का आयोजन भी होगा।


 वो अभिमानी डूब जाएंगे जिनके मुख नहीं राम,
 श्री राम प्राण प्रतिष्ठा समारोह  का निमंत्रण ठुकराने को लेकर कांग्रेस पर  निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि- वो अभिमानी डूब जाएंगे जिनके मुख नहीं राम, वो पत्थर भी तर जाते हैं जिनपर लिखा श्री राम। उन्होंने कहा कि   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कहना सही, यह घमंडियां गठबंधन है। उन्होंने कहा कि  अभिमान में डूबे हैं निमंत्रण ठुकराने वाले, इनकी सोच इन्हीं को मुबारक हो।