home page

सिरसा के एसपी ने गांव चकां में आयोजित कार्यक्रम में युवाओं से किया आह्वान, नशे से दूर रहें तथा शिक्षा व खेलों से नाता जोड़े

गांव की महिलाओं ने भारी संख्या में मौजूदगी दर्ज करवा कर नशे के  खिलाफ अभियान में मोर्चा संभाला

ताजा खबरों, बिजनेस, केरियर व नौकरी संबंधित खबरों के लिए

व्हाट्सअप ग्रुप

से जुड़े

 | 
गांव की महिलाओं ने भारी संख्या में मौजूदगी दर्ज करवा कर नशे के  खिलाफ अभियान में मोर्चा संभाला

mahendra india news, new delhi

 सिरसा के एसपी विक्रांत भूषण ने कहा कि नशा समाज का सांझा दुश्मन है, इसलिए  सभी लोग नशे के खिलाफ चलाए जा रहे जन आंदोलन में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएं । नशा स्वस्थ समाज के लिए एक गंभीर चुनौती है, और इस चुनौती से निपटने के लिए समाज के प्रत्येक वर्ग को आगे आकर नशे के खिलाफ चलाए जा रहे, जन आंदोलन में अग्रणी भूमिका निभानी होगी।  नशा तस्करों का सामाजिक बहिष्कार होना चाहिए तथा समाज का कोई भी व्यक्ति उनकी पैरवी न करें । पुलिस अधीक्षक विक्रांत भूषण ने गांव चक्कां में आयोजित जागरूकता कार्यक्रम में उपस्थित युवाओं तथा आम जन को संबोधित करते हुए व्यक्त किए ।


सिरसा के एसपी भूषण ने कहा कि जिला पुलिस अपने स्तर पर नशे के खिलाफ लगातार अभियान चलाए हुए हैं परंतु इस अभियान की संपूर्ण सफलता के लिए जन सहयोग अति आवश्यक है ।  उन्होंने कहा कि नशा बेचने वालों की असली जगह जेल में है , इसलिए नशे का कारोबार करने वालों की सूचना  नि:संकोच होकर पुलिस को दें, पुलिस प्रशासन की ओर से कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी । इस अवसर पर उन्होंने कहा कि मां-बाप अपने बच्चों की दैनिक गतिविधियों पर पैनी नजर रखें तथा अपने बच्चों को नशे से दूर रहकर शिक्षा तथा खेलकूद की गतिविधियों में निरंतर  आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करें ।


 एसपी  विक्रांत भूषण ने गांव चक्का में भारी संख्या में मौजूद महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि नशे के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान में महिलाएं अग्रणी भूमिका निभाएं। उन्होंने इस अवसर पर कहा कि महिलाएं नशाग्रस्त परिवार में सबसे ज्यादा प्रभावित होती है, और नशे से पीड़ित व्यक्ति जहां महिलाओं से घरेलू हिंसा करता है, वही  नशे की पूर्ति के लिए महिलाओं के जेवर तक बेच डालता है। 


पुलिस अधीक्षक ने कहा कि मां बच्चे की पहली गुरु होती है, इसलिए अपने बच्चों की दैनिक गतिविधियों पर पूरी निगाह रखें और उन्हें अच्छे संस्कार दें तथा शिक्षा तथा खेलकूद में निरंतर आगे बढ़ाने के लिए प्रेरित करें । इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक ने कहा कि अगर कोई युवा गलत संगत का शिकार होकर नशे की दलदल में फस गया है  तो इसकी सूचना पुलिस प्रशासन को दें, ताकि स्थानीय प्रशासन के सहयोग से उक्त युवा का इलाज करवा कर उसे फिर से समाज की मुख्य धारा में शामिल किया जा सके। इस अवसर पर गांव चक्का  में आयोजित खेल प्रतियोगिता में युवाओं तथा ग्रामीणों ने भाग लिया। 

युवाओं तथा ग्रामीण को संबोधित करते हुए पुलिस अधीक्षक विक्रांत भूषण ने कहा कि नशे के खिलाफ चलाए जा रहे जागरूकता अभियान के तहत सभी गांवो में  युवाओं को खेल गतिविधियों से जोड़ने के लिए विभिन्न खेल प्रतियोगिताएं कराई जा रही  है ।    कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पुलिस अधीक्षक विक्रांत भूषण की मौजूदगी में पुलिस जवानों तथा गांव के युवाओं के बीच क्रिकेट, कबड्डी, रस्सा- कस्सी मैच का आयोजन करवाया गया। 

 पुलिस अधीक्षक विक्रांत भूषण ने कहा कि युवा अपनी ऊर्जा खेलों में लगाएं तथा बेहतर प्रतिभा का प्रदर्शन कर अपने मां-बाप तथा इलाके का नाम रोशन करें ।  उन्होने इस अवसर पर उपस्थित युवाओं से आवाह्न किया कि शिक्षा तथा खेलकूद की गतिविधियों में  निरंतर आगे बढ़ने के लिए प्रयास करें। पुलिस अधीक्षक विक्रांत भूषण ने कहा कि अब जिला पुलिस सभी गांवो में युवाओं को खेल गतिविधियों से जोड़ने के लिए समूचे जिले में विभिन्न खेल प्रतियोगिताएं का आयोजन करवाकर युवाओं को नशे से दूर रहने का संदेश दिया जा रहा है। पुलिस अधीक्षक विक्रांत भूषण ने कहा कि जिला भर में युवाओं को खेलों से  जोड़ने के लिए जिला स्तर पर वॉलीबॉल, हैंडबॉल, कबड्डी, क्रिकेट बास्केटबॉल तथा कबड्डी इत्यादि की टीमों का गठन किया गया है, और पुलिस जवान लगातार गांव दर गांव जाकर युवाओं के साथ खेल गतिविधियों में भाग लेकर उन्हें नशे से दूर रहने का संदेश दे रहे हैं, जो काफी सार्थक साबित हो रहा है तथा युवा पुलिस के अभियान से प्रभावित होकर खेलों की ओर आकर्षित हो रहे हैं। 


एसपी विक्रांत भूषण ने बताया कि इस अभियान के तहत पुलिस जिला सिरसा की ओर से सभी गांवो में ग्राम पंचायतो के सहयोग से खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन करवाया जा रहा है, ताकि युवा पथ भ्रष्ट होकर नशे की और अग्रसर  ना हो सके। इस अवसर पर डीएसपी ऐलनाबाद अजायब  सिंह, रानिया थाना प्रभारी इंस्पेक्टर राधेश्याम, सरपंच अमर सिंह छापोला, गांव भुना की सरपंच शारदा देवी   भी मौजूद रहे।