home page

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा आचार संहिता लगने के पहले शुरू होगी जीपीएस आधारित टोल प्रणाली

देश में सेटेलाइट आधारित टोल प्रणाली की शुरुआत होगी
 

ताजा खबरों, बिजनेस, केरियर व नौकरी संबंधित खबरों के लिए

व्हाट्सअप ग्रुप

से जुड़े

 | 
देश में सेटेलाइट आधारित टोल प्रणाली की शुरुआत होगी

mahendra india news, new delhi
देश में लोकसभा चुनाव इस वर्ष में होने हैं। इसी को लेकर चुनाव आयोग ने तैयारियां शुरू कर दी है। इस चुनाव को लेकर आचार संहिता भी लगनी है। इसी बीच देश के केंंद्रीय सड़क एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि लोकसभा के आगामी चुनाव के लिए आदर्श आचार संहिता लागू होने के पहले देश में सेटेलाइट आधारित टोल प्रणाली की शुरुआत हो जाएगी।


आपको बता दें कि केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने राज्यसभा में एक प्रश्र के जवाब में कहा कि हम संसद को आश्वस्त करना चाहते हैं कि टोल प्रणाली को लेकर विश्व की सबसे अच्छी तकनीक मानी जाने वाली सेटेलाइट आधारित प्रणाली जल्द ही शुरू होगी। इसके बाद तो टोल नाके हटा दिए जाएंगे। 


इससे आमजन को कहीं भी रुकने की जरूरत नहीं पड़ेगी। नंबर प्लेट की फोटो से टोल वसूली होगी। यह प्रणाली हाईवे या एक्सप्रेस को जितना प्रयोग किया गया, इस पर आधारित होगी। यानी वाहन जहां से किसी सड़क में प्रवेश करते हैं और जहां से बाहर निकलते हैं, केवल उतने एरिया का ही टोल आपको देना होगा। यह टोल वाहन चालक के बैंक अकाउंट से स्वत: अपने आप ही कट जाएगा।

जानकार सूत्रों के अनुसार लोकसभा के लिए चुनाव आचार संहिता मार्च के प्रथम सप्ताह में लागू हो जाएगा। केंद्रीय मंत्री गडकरी ने कहा कि संप्रग सरकार में कुछ इस तरह के ठेके दे दिए गए थे कि शहर से एकदम सटे हुए एरियां में टोल प्लाजा बना दिए गए हैं। उन्हें हम हटा नहीं पा रहे हैं, क्योंकि ठेकेदार हर्जाना मांग रहे हैं। यह नहीं होना चाहिए था। किसी भी शहर में हजारों लोगों का प्रतिदिन आना-जाना होता है।