home page

ऋ ग्वेदा पब्लिक स्कूल के छोटे बच्चों ने टेलेंट प्रदर्शन में दिया बड़ा संदेश, अभिभावक भी रह गये हैरान

गांव शक्करमंदोरी स्कूल में मोबाइल से होने वाले नुकसान तो योग से होने वाले फायदों के बारे में दी जानकारी 

ताजा खबरों, बिजनेस, केरियर व नौकरी संबंधित खबरों के लिए

व्हाट्सअप ग्रुप

से जुड़े

 | 
 गांव शक्करमंदोरी स्कूल में मोबाइल से होने वाले नुकसान तो योग से होने वाले फायदों के बारे में दी जानकारी 

mahendra india news, new delhi
सिरसा के गांव शक्करमंदोरी स्थित ऋ ग्वेदा पब्लिक स्कूल में सोमवार को किड्स टेलेंट प्रदर्शन का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में स्कूल के छोटे बच्चों ने टेलेंट प्रदर्शन में मोबाइल से होने वाले नुकसान और योग से शरीर को मिलने वाले फायदों के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी। जिसे देखकर अभिभावक भी हैरान हो गये। इससे पहले कार्यक्रम का शुभारंभ स्कूल के चेयरमैन देशबंधु बैनीवाल व प्रिंसिपल उपासना संभवाल ने किया। 

हरियाणा गीतों ने मचाई धूम 
कार्यक्रम के दौरान स्कूल की नन्ही छात्राओं ने हरियाणावीं गीत चुनरी जयपुर से मंगवाई, मेरा बालम थानेदार चलवा जिप्सी, गजबन पाणी न चाली गीतों पर डांस किया। इसी के साथ स्कूल के छात्रों ने कोई मिल गया, सारा जमाना गीतों पर डांस किया। 

 गांव शक्करमंदोरी स्कूल में मोबाइल से होने वाले नुकसान तो योग से होने वाले फायदों के बारे में दी जानकारी 

फैंसी ड्रैस में बड़ा संदेश 
कार्यक्रम के  दौरान सानची ने पंडित का रोल किया, इसी के साथ अनवी ने बढ़ते प्रदूषण को लेकर सोचने पर मजबूर कर दिया। जीया ने पृथ्वी का रोल किया। इसी के साथ स्कूल के छात्रा रितिका, आरजू, भूमिका ने मोबाइल से होने वाले नुकसान के बारे में बताया कि किसी प्रकार बच्चे मोबाइल के आदी हो रहे हैं। वहीं अभिभावक भी मोबाइल के कारण बच्चों की तरफ ध्यान नहीं देते हैं। इससे क्या नुकसान होता है। उन्होंने संदेश दिया कि बच्चों की तरफ विशेष ध्यान दें।  

 गांव शक्करमंदोरी स्कूल में मोबाइल से होने वाले नुकसान तो योग से होने वाले फायदों के बारे में दी जानकारी 

बच्चों की तरफ विशेष ध्यान : देशबंधु बैनीवाल 
कार्यक्रम में बच्चों व अभिभावकों को संबोधित करते हुए स्कूल चेयरमैन देशबंधु बैनीवाल ने कहा कि स्कूल में शिक्षा की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इसी के साथ ऐसे कार्यक्रम के माध्यम से बच्चों का मनोबल बढ़ समय समय कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। उन्होंने कहा कि स्कूल के अध्यापक कड़ी मेहनत करते हैं। जिसका नतीजा है कि कार्यक्रम में छोटे छोटे बच्चों ने बेहतर प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि अभिभावक भी बच्चों की तरफ विशेष ध्यान दें। अभिभावक बच्चों को मोबाइल न दें, वहीं सारा दिन खुद भी मोबाइल की लत से दूर रहे। इस दौरान कार्यक्रम में भाग लेने वाले बच्चों को सम्मानित भी किया गया।