home page

IAS Ishwarya Ramanathan: किसान की बेटी बनीं IAS अफसर, महज 24 की उम्र में दो बार क्लीयर किया UPSC, जाने इनकी सफलता की कहानी

 | 
IAS Ishwarya Ramanathan: किसान की बेटी बनीं IAS अफसर, महज 24 की उम्र में दो बार क्लीयर किया UPSC, जाने इनकी सफलता की कहानी
IAS Ishwarya Ramanathan: यूपीएससी को देश की सबसे कठिन परीक्षा में से एक माना जाता है। हर साल लाखों युवा इस परीक्षा में बैठते हैं लेकिन कुछ ही सफलता हासिल कर पाते है। आज हम आपको ऐसी ही लड़की के बारे में बताएंगे जिसने बहुत कम उम्र में यूपीएससी क्लीयर कर सफलता हासिल की। आइए जानते हैं उनके बारे में...

महज 24 की उम्र में बनीं IAS
दरअसल, हम बात कर रहे हैं आईएएस अधिकारी ईश्वर्या रामनाथन की, जिन्होंने मजह 24 साल की उम्र में दो बार यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा क्लियर की. ईश्वर्या रामनाथन भारत के सबसे युवा आईएएस अधिकारियों में से एक हैं. जब वह सिर्फ 24 साल की थीं, तब उन्होंने 2019 यूपीएससी परीक्षा में ऑल इंडिया 47वीं रैंक के साथ सफलता हासिल की थी. वर्तमान में वह तमिलनाडु के तिरुवल्लूर में सब-कलेक्टर, एसडीएम के पद पर तैनात हैं.

IAS Ishwarya Ramanathan: किसान की बेटी बनीं IAS अफसर, महज 24 की उम्र में दो बार क्लीयर किया UPSC, जाने इनकी सफलता की कहानी

कलेक्टर गगनदीप सिंह बेदी से हुई प्रभावित
तमिलनाडु के तटीय जिले कुड्डालोर से ताल्लुक रखने वाली ईश्वर्या ने बचपन से ही बाढ़, चक्रवात और भारी बारिश जैसी कई प्राकृतिक आपदाएं देखी हैं. खासतौर पर 2004 की सुनामी का उन पर गहरा असर पड़ा. उस महत्वपूर्ण समय के दौरान कलेक्टर गगनदीप सिंह बेदी की भूमिका का अवलोकन करने से उन पर गंभीर प्रभाव पड़ा.

WhatsApp Group Join Now

पिता करते हैं खेती
ईश्वर्या अपनी वित्तीय स्थिति से भी प्रेरित थी. उनके पिता आर. रामनाथन एक काजू उगाने वाले किसान हैं. जबकि उनकी मां, जिनकी कम उम्र में ही शादी हो गई थी और बाद में उन्हें सरकारी नौकरी मिल गई, उन्होंने भी ईश्वर्या को कलेक्टर बनने के लिए प्रेरित किया.

पहले प्रयास में आई 630 रैंक
अपने दिमाग में बड़े सपने लिए ईश्वर्या ने 2017 में अन्ना विश्वविद्यालय, चेन्नई से इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त की. उन्होंने अपने कॉलेज के दिनों में यूपीएससी की कोचिंग लेकर सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी. अपने पहले प्रयास में उनकी ऑल इंडिया रैंक 630 थी और वह रेलवे अकाउंट्स सर्विस के लिए चुनी गई. हालांकि, वह आईएएस अधिकारी बनने के अपने सपने से प्रेरित थीं.

IAS Ishwarya Ramanathan: किसान की बेटी बनीं IAS अफसर, महज 24 की उम्र में दो बार क्लीयर किया UPSC, जाने इनकी सफलता की कहानी

दूसरे प्रयास में पूरा किया IAS बनने का सपना
इसलिए 2019 में अपने दूसरे प्रयास में, ईश्वर्या ने आईएएस अधिकारी बनने के अपने सपने को पूरा करते हुए, ऑल इंडिया 47वीं रैंक के साथ यूपीएससी परीक्षा को सफलतापूर्वक पास किया. रिजल्ट के बाद एक इंटरव्यू में ईश्वर्या ने बताया कि आईएएस अधिकारी बनना उनका बचपन का सपना था, जो उनकी मां से प्रेरित था.

दोनों बहने IAS-IPS
अपने पेशे के अलावा, ईश्वर्या सोशल मीडिया, खासकर इंस्टाग्राम पर काफी एक्टिव रहती हैं, जहां उनके एक लाख से अधिक फॉलोअर्स हैं. दिलचस्प बात यह है कि ईश्वर्या की बहन सुष्मिता रामनाथन ने भी यूपीएससी में सफलता हासिल की और वर्तमान में एक आईपीएस अधिकारी हैं.