home page

मेरी कहानी: मैं नई विवाहित हूं, लेकिन पति संतुष्ट नहीं कर पाता, इसलिए पड़ोसी लड़के के साथ संबंध बनाए

 | 
मेरी कहानी: मैं नई विवाहित हूं, लेकिन पति संतुष्ट नहीं कर पाता, इसलिए पड़ोसी लड़के के साथ संबंध बनाए

मैं एक शादीशुदा महिला हूं। मुझे अपने पति से बहुत प्यार मिला है, लेकिन इसके बाद भी मैं खुश नहीं हूं। मैं चाहती हूं कि मेरे पति किसी के साथ नाजायज रिश्ते में आ जाएं। मैं और मेरे पति एक-दूसरे से बिल्कुल अलग हैं। हम दोनों के बीच बिल्कुल भी समानता नहीं है।

लेकिन इसके बाद भी हम एक-दूसरे को बहुत पसंद करते थे। ऐसा इसलिए क्योंकि उन्होंने मुझे उन महत्वाकांक्षाओं और सपनों के लिए पसंद किया था, जिनका मैं पीछा कर रही थी। मेरे साथ भी बिल्कुल ऐसा ही था, मैंने उन्हें उनके संवेदनशील और भावनात्मक व्यक्तित्व के लिए पसंद किया था।

WhatsApp Group Join Now

हालांकि, जीवनसाथी के रूप में हम दोनों का चुनाव हमारे माता-पिता ने किया था, लेकिन अरेंज मैरिज वाला सेट-अप कब प्यार में बदल गया पता ही नहीं चला। (सभी तस्वीरें सांकेतिक हैं, हम यूजर्स द्वारा शेयर की गई स्टोरी में उनकी पहचान गुप्त रखते हैं)

हमारी शादी का पहला साल बहुत ही खूबसूरत दौर था। मुझे हर कदम पर अपने पति का समर्थन मिला था। मैं उन्हें पाकर खुद को बहुत लकी महसूस कर रही थी। ऐसा इसलिए भी क्योंकि घर संभालने के साथ-साथ मैं अपने सपनों और महत्वाकांक्षाओं को भी अच्छे से पूरा कर रही थी। इतना ही नहीं, उसके साथ रहते हुए मुझे जल्द ही एक अच्छे पद और वेतन वाली नौकरी भी मिल गई थी।

अपनी लाइफ को इस तरह बढ़ता देख मैं बहुत ज्यादा उत्साहित थी। हां, वो बात अलग है कि जैसे-जैसे समय बीतता गया, मैं वास्तव में अपने काम में व्यस्त होती चली गई। काम की वजह से मैं अपने घर और अपने पति के साथ मुश्किल से ही समय बिता पाती थी। हालांकि, इस दौरान सबसे अच्छी बात यह थी कि मैं कितना भी व्यस्त क्यों न रहूं, मेरे पति को कभी इससे कोई परेशानी नहीं होती है।

मेरे पति पूरी तरह से एक गृहस्थ व्यक्ति हैं। वह अपने जीवन में कुछ ही चीजों से संतुष्ट होते हैं। वह केवल मेरे और अपनी किताबों के बारे में सोचते हैं। मैं उनका यह पक्ष बहुत ज्यादा पसंद करती हूं, लेकिन मैं उनसे थोड़ी सी नफरत भी करती हूं। ऐसा इसलिए क्योंकि मुझे जिस प्रकार के पुरुष पसंद हैं, वे मर्दाना टाइप के हैं। भले ही मुझे पहले अपने पति से पहली ही नजर में प्यार हो गया था, लेकिन अब मैं उनके प्रति आकर्षित महसूस नहीं करती।

वह बहुत ही कोमल और भावुक हैं। मुझे ऐसा आदमी पसंद है, जो मजबूत-मर्दाना और जिम्मेदार हो। मैं ऐसे लोगों के आसपास रहना पसंद करती हूं, जो महत्वाकांक्षी-आत्मविश्वासी और संतुलित हों। मेरे पति इन सबके बिल्कुल विपरीत हैं। यही एक वजह भी है कि धीरे-धीरे मुझे उनके प्रति नाराजगी महसूस होने लगी। उनके लिए मेरे मन में जो प्यार था, वह गायब होने लगा।

मैं अपने पति के बारे में जितना ज्यादा सोचती हूं, उतना ही मेरा दूसरे पुरुषों से बात करने का मन करता है। शायद ऐसा इसलिए भी क्योंकि मेरे सहकर्मी बहुत ज्यादा आत्मविश्वासी और मर्दाना हैं। मैं अपने पति को धोखा देना नहीं चाहती, लेकिन मैं निश्चित रूप से थोड़ा फ्लर्ट करना चाहती हूं।

मेरी शादी में सब कुछ बहुत ज्यादा नीरस है। सच कहूं तो मैं भी चाहती हूं कि मेरे पति कुछ ऐसा करें, जिसकी वजह से उनका ध्यान मुझसे हट जाए। मैं चाहती हूं कि वह किसी और महिला के साथ संबंध बनाए ताकि वह घर से बाहर निकल सके।