home page

राजस्थान में कल बनेगी विश्व की सबसे बड़ी रोटी, रोटी का वजन जानकार आप हो जाएंगे हैरान

रोटी बनाने के लिए राजस्थान, गुजरात और महाराष्ट्र के 12 ट्रेंड हलवाईयों को बुलाया गया

ताजा खबरों, बिजनेस, केरियर व नौकरी संबंधित खबरों के लिए

व्हाट्सअप ग्रुप

से जुड़े

 | 
रोटी बनाने का इससे पहले जामनगर का गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड है

mahendra india news, new delhi

हर किसी भूखे व्यक्ति को रोटी की याद आती है। आदमी कहते हैं भी दो जून की रोटी मिल जाए। आपको बता दें कि रोटी का जिक्र हम इसलिए अब कर रहे है। कल यानि रोटी को लेकर इतिहास बनने जा रहा है। राजस्थान के अंदर विश्व की सबसे बड़ी रोटी कल यानि 8  अक्टूबर को बड़ी रोटी बनाई जाएगी। इस रोटी को बनाने के लिए  राजस्थान, गुजरात और महाराष्ट्र के 12 ट्रेंड हलवाईयों को बुलाया गया है। इस रोटी को बनाने के लिए भी तवा भी एक हजार किलोग्राम वजन का तैयार किया गया है। इस रोटी को फैलाने के लिए बेलन 20 फीट लंबे लोहे के पाइप का होगा।


आपको बता दें कि अब तक रोटी बनाने का इससे पहले जामनगर का गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड है। इसमेंं करीब 145 किलोग्राम की रोटी बनाने रिकॉर्ड है। अब इस रिकार्ड को तोडऩे के लिए रोटी भीलवाड़ा जिले में बनाई जाएगी। रोटी को बनाने के लिए शनिवार को पूरी तरह से चूल्हा और तवा बना लिए गये हैं। भीलवाड़ा में इस रोटी को हरिसेवा धाम के महामंडलेश्वर संत हंसराम के सानिध्य में तैयार किया जाएगा। 


ये दी जानकारी 
राजस्थानी जनमंच अध्यक्ष कैलाश सोनी ने कहा कि रोटी का बनाने के लिए तैयारियां शुरू हो गई है। करीब 50 कार्यकर्ताओं की टीम तैयारी में जुटी है। इस बड़ी रोटी के लिए 151 किलो आटा लगेगा। रोटी को लगभग एक हजार से ज्यादा व्यक्ति के लिए प्रसाद के रूप में तैयार होगी। रोटी के साथ पंचकुटे की सब्जी को परोसा जाएगा। 


ये लगेगा रोटी सेंकने में समय 
राजस्थान, गुजरात और महाराष्ट्र के 12 ट्रेंड हलवाईयों को रोटी बनाने के लिए पहुंचे हैं। यहां पर रोटी को बनाने के लिए करीब एक हजार ईंटों की बेस से एक 12&16 का चूल्हा बनाया गया है। चूल्हे में सबसे नीचे की जगह को खाली रखा गया है। इसमें लोहे की जाली लगाई गई है। इस लोहे की जाली पर घास और कोयला डाला जाएगा। इस पर लोहे के तवे को सेट किया जाएगा।

जानकारी के अनुसार रोटी बनाने से पहले चूल्हे के नीचे से आग लगाकर कोयलों को तैयार किया जाएगा। इसके बाद तवे को ठंडा कर रोटी का आटा डालकर उसे बेलन से आकार दिया जाएगा। फिर कोयले की धीमी आंच पर उस रोटी को सेक लगाया जाएगा। इस पूरी प्रक्रिया में करीब साढ़े चार घंटे से का समय लगेगा।