home page

राजस्थान में सीएम और पूर्व सीएम ही नहीं, मुख्यमंत्री पद के ये दावेदार बचा पाएंगे साख

राजस्थान की इन खास सीटों का सियासी समीकरण
 | 
राजस्थान की इन खास सीटों का सियासी समीकरण

mahendra india news, new delhi
राजस्थान में शनिवार को सुबह 7 बजे से मतदान प्रक्रिया शुरू हो गई। मतदान केंद्रों पर सुबह से लोगों की लाइन लगनी शुरू हो चुकी है। करणपुर विधानसभा सीट से कांग्रेस के प्रत्याशी की मौत के बाद अब 199 सीटों पर 1,863 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। चुनाव में मौजूदा सीएम अशोक गहलोत, पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और सचिन पायलट सहित कई दिग्गज नेताओं की साख दांव पर लगी है।


अशोक गहलोत सरदारपुर सीट से मैदान 
आपको बता दें कि सरदारपुर विधानसभा सीट काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही है। यहां पर राजस्थान की राजनीति में जादूगर कहे जाने वाले मौजूदा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत गढ़ माना जाता है। अशोक सरदारपुरा विधानसभा सीट से मौजूदा विधायक हैं और पांचवी फिर से इसी सीट से चुनावी मैदान में हैं। वह 3 बार इस सीट से विजय होकर मुख्यमंत्री बने हैं।

WhatsApp Group Join Now

गहलोत को टक्‍कर देने के लिए बीजेपी ने अपने दिग्गज नेता डॉ. महेंद्र राठौड़ को चुनावी मैदान में उतारा है। राठौड़ जोधपुर विकास प्राधिकरण (जेडीए) के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। हालांकि, कांग्रेस सरकार बनने के बाद उन्होंने रिजाइन कर दिया था।


पूर्व सीएम वसुंधरा राजे के गढ़ में हैं राम लाल
राजस्‍थान की झालरापाटन विधानसभा एक बहुत ही चर्चित सीट है। पूर्व सीएम और बीजेपी की दिग्गज नेता वसुंधरा राजे की यह पारंपरिक सीट है। पूर्व सीएम वसुंधरा इस बार भी झालरापाटन से ही चुनाव लड़ रहीं हैं। कांग्रेस ने उनके सामने राम लाल चौहान को मैदान में उतारा है।


पायलट के सामने मेहता
टोंक विधानसभा सीट से कांग्रेस नेता सचिन पायलट चुनावी मैदान में हैं। पिछले चुनाव में भी सचिन पायलट इस सीट से बहुत ही बड़े अंतर से जीते थे।  बीजेपी ने सचिन पायलट के सामने 3 बार विधायक रह चुके अजीत मेहता को मैदान में उतारा है। 

राजस्थान का ताज किसके होगा नाम, 199 सीटों पर वोटिंग हुई शुरू


झोटवाड़ा विधानसभा सीट पर त्रिकोणीय मुकाबला
राजस्थान में जयपुर की झोटवाड़ा विधानसभा सीट पर त्रिकोणीय मुकाबला है। बीजेपी की ओर से झोटवाड़ा से 2 बार के सांसद और पीएम मोदी के मंत्री रह चुके राज्यवर्धन सिंह राठौड़ चुनावी मैदान में हैं तो उनके खिलाफ कांग्रेस ने राजस्थान विश्वविद्यालय में छात्र नेता रहे अभिषेक चौधरी को टिकट दिया है। 


दीया कुमारी के सामने हैं कांग्रेस के सीताराम
जयपुर की विद्याधर नगर सीट को बीजेपी का गढ़ माना जाता है। इस सीट से बीजेपी ने जयपुर की राजकुमारी दीया कुमारी को चुनावी मैदान में उतारा है। बता दें कि दीया राजसमंद से सांसद हैं और सवाई माधोपुर से विधायक रह चुकी हैं। राजकुमारी दीया महाराजा सवाई सिंह और महारानी पद्मिनी देवी की बेटी हैं।कांग्रेस ने दीया के सामने सीताराम अग्रवाल को टिकट दिया है।