home page

अयोध्या में 15 जनवरी से 22 जनवरी तक राम मंदिर प्राण प्रतिष्‍ठा का जानिए पूरा शेड्यूल

ये कार्यक्रम होंगे आयोजित 

ताजा खबरों, बिजनेस, केरियर व नौकरी संबंधित खबरों के लिए

व्हाट्सअप ग्रुप

से जुड़े

 | 
ये कार्यक्रम होंगे आयोजित 

mahendra india news, new delhi

अयोध्या मेंं राम मंदिर प्राण प्रतिष्‍ठा को लेकर तैयारियां चल रही है। देशभर मेें कलश यात्रा निकाल कर कार्यक्रम को लेकर लोगों को निमंत्रण दिया जा रहा है। अयोध्‍या में अनगिनत व्यक्तियों की मेहनत, प्रयासों से बनकर तैयार हुए विश्व के विशाल और भव्‍य मंदिर का उद्घाटन किया जाएगा। देश के पीएम नरेंद्र मोदी राम मंदिर प्राण प्रतिष्‍ठा के यजमान होंगे। 


आपको बता दें कि अयोध्या में प्राण प्रतिष्‍ठा का आयोजन 15 जनवरी 2024 को मकर संक्रांति के दिन से शुरू होगा और 22 जनवरी 2024 को प्राण प्रतिष्‍ठा होने तक कई अनुष्‍ठान होंगे। इसके लिए पूरा शेड्यूल मंदिर समिति ने जारी कर दिया है। 


आपको बता दें कि अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्‍ठा का कार्यक्रम  सप्ताहे भर चलेगा। वहीं रामलला की मूर्ति को गर्भगृह में स्‍थापित करने का वक्तसबसे अहम होगा। यह 84 सेकंड का सबसे बहुत ही शुभ समय है, जिसे ज्‍योतिष और धर्मविदों ने रामलला की मूर्ति की स्‍थापना के लिए चुना गया है। यह समय 22 जनवरी 2024 की दोपहर 12 बजकर 29 मिनट 8 सेकंड से शुरूकर 12 बजकर 30 मिनट 32 सेकंड तक का है। इस वक्त सूर्य आसमान में सिर पर रहेगा और मृगषिरा नक्षत्र रहेगा। इसी के साथ ही यह मुहूर्त बानमुक्‍त भी है. 

राम मंदिर का ये रहेगा शेड्यूल 
15 जनवरी को मकर संक्रांति है और इसी के साथ  खरमास समाप्‍त हो जाएगा. मकर संक्रांति के शुभ विशेष दिन पर रामलला के विग्रह यानी श्रीराम के बालरूप की मूर्ति को गर्भगृह में स्थापित किया जाएगा।  

16 जनवरी 2024 - 16 जनवरी से रामलला के विग्रह के अधिवास का अनुष्ठान शुरू होगा.17 जनवरी 2024 - 17 जनवरी को रामलला की प्रतिमा को नगर भ्रमण कराया जाएगा. 


18 जनवरी से प्राण-प्रतिष्ठा का मुख्‍य अनुष्‍ठान शुरू होगा। इस दिन मंडप प्रवेश पूजन, वास्तु पूजन, वरुण पूजन, विघ्नहर्ता गणेश पूजन और मार्तिका पूजन होगा। 

19 जनवरी को राम मंदिर में यज्ञ अग्नि कुंड की स्थापना की जाएगी। अरणी मंथन से यज्ञ की अग्नि प्रज्‍वलित की जाएगी, इसके बाद फिर नवग्रह होम होगा, राम मंदिर की वास्‍तु शांति होगी।  

20 जनवरी 2024 को राम मंदिर के गर्भगृह को 81 कलशों के जल से पवित्र किया जाएगा।

21 जनवरी 2024 के इस दिन यज्ञ विधि में विशेष पूजन और हवन के बीच राम लला का 125 कलशों से दिव्य स्नान होगा। 

22 जनवरी 2024 को मध्यकाल में मृगशिरा नक्षत्र में रामलला की मूर्ति गर्भगृह में स्‍थापित होगी और महापूजा होगी।