home page

इस प्रदेश में स्कूली विद्यार्थियों के लिए अनिवार्य हुआ सूर्य नमस्कार, 15 फरवरी को विश्व रिकॉर्ड बनाने की तैयारी

सूर्य नमस्कार करने से शरीर को मिलते हैं ये फायदें 

ताजा खबरों, बिजनेस, केरियर व नौकरी संबंधित खबरों के लिए

व्हाट्सअप ग्रुप

से जुड़े

 | 
सूर्य नमस्कार करने से शरीर को मिलते हैं ये फायदें 

mahendra india news, new delhi

सूर्य नमस्कार करने से शरीर को अनेक फायदें मिलते हैं। इसी को लेकर राजस्थान की भजनलाल शर्मा सरकार ने प्रदेश के सभी राजकीयी स्कूलों में सूर्य नमस्कार को अनिवार्य कर दिया है. स्कूल में सुबह की प्रार्थना के समय सूर्य नमस्कार करवाने के निर्देश जारी कर दिए गये हैं। राजस्थान में 15 फरवरी को सभी स्कूलों में सूर्य नमस्कार करवाया जाएगा। 15 फरवरी को सूर्य सप्तमी है और इस दिन प्रदेश सरकार सूर्य नमस्कार का विश्व रिकॉर्ड बनाना चाहती है। इस विश्व रिकॉर्ड को बनाने के लिए स्कूलों को तैयारी कराने का आदेश दिया गया है।  

सूर्य नमस्कार के फायदे
आपको बता दें कि सूर्य नमस्कार सेहत के लिए बहुत जरूरी है, ये एक ऐसी दवाई है, इसके लिए आपको चिकित्सक को रुपये नहीं देने पड़ते है, इसके लिए तो सिर्फ अपना कुछ वक्तदेना होता है। 

सर्य नमस्कार से शरीर की मांसपेशियों के लिए फायदेमंद होता है.
शारीरिक मुद्रा बेहतर होती है
रीढ़ की हड्डी मजबूत रहती है
दिल की मांसपेशियों को भी मजबूत रखता है.
रक्त प्रवाह को अच्छा रखता है


अगर खुले में सूर्य के सामने करें..तो विटामीन डी की कमी दूर होती है.
मानसिक तनाव को कम करता है g
वजन कम करने में मददगार

फेफड़ों को मजबूत बनाता है
फेफड़ों की क्षमता बढ़ाता है

ऐसे करें सूर्य नमस्कार
सूर्य नमस्कार असल में योग की ही एक विधि है, इसमें कुल 12 आसन होते हैं, इनके नाम प्रणामासन, हस्तउत्तनासन, पादहस्तासन, अश्व संचालनासन, दंडासन, अष्टांग नमस्कार, भुजंगासन, अधोमुख शवासन, अश्व संचालासन, पादहस्तासन, हस्तउत्तनासन और प्रणामासन हैं। सूर्य नमस्कार को करने के लिए कोई विशेष तैयारियों या समय की जरूरत नही होती।  आप सुबह के समय घर की छत, बाल्कनी, पार्क, स्टेडियम या कहीं भी खुले स्थान पर साधारण कपड़ों में इसे कर सकते हैं।