home page

हरियाणा में बदला मौसम, आसमान में छाये बादल, तीन दिन तक बरसात को लेकर अलर्ट

 जानिए आने वाले समय में कैसा रहेगा मौसम
 | 
जानिए आने वाले समय में कैसा रहेगा मौसम

mahendra india news, new delhi

मौसम में एक बार फिर से मौसम में बदलाव होना शुरू हो गया है। मंगलवार दोपहर को आसमान में बादल छाये हुए हैं। वहीं कई स्थानों में बरसात होगी, मौसम वैज्ञानिकों ने हरियाणा, राजस्थान और पंजाब में आने तीन दिनों में पश्चिमी विक्षोभ के कारण बरसात को लेकर अलर्ट जारी किया है। 

मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार उत्तर पूर्वी असम पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है। एक ट्रफ रेखा उत्तरी बिहार से बांग्लादेश होते हुए असम पर बने चक्रवाती परिसंचरण तक फैली हुई है। स्काइमैट एप के अनुसार 26 की रात्रि से पश्चिमी हिमालय क्षेत्र में एक पश्चिमी विक्षोभ आने की संभावना है।एक और पश्चिमी विक्षोभ 29 मार्च से पश्चिमी हिमालय क्षेत्र के पास पहुंचेगा। 

WhatsApp Group Join Now

अगले 24 घंटों के दौरान मौसम की संभावित गतिविधि
मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार अगले 2 दिनों तक हल्की से मध्यम बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है। आज यानि 26 मार्च को पश्चिमी हिमालय क्षेत्र में छिटपुट हल्की बारिश संभव है और अगले 2 से 3 दिनों के दौरान इसमें वृद्धि होगी। 27 से 29 मार्च के बीच पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में हल्की बरसात संभव है।

 प्रकृति के बदलते मिजाज को देखते हुए भारतीय मौसम विभाग IMD ने मंगलवार को देश के कई हिस्सों में तेज हवा के साथ बारिश की भविष्यवाणी की है. खासकर उत्तर-पूर्व और पूर्वी भारत में तूफान के साथ बारिश का भी अनुमान है.इससे पहले मध्य भारत के कई इलाकों में बारिश दर्ज की गई. इस दौरान धूल भरी आंधी चलने की भी संभावना है। वहीं, 26 मार्च को दिल्ली और आसपास के इलाकों में बादल छाए रहने का अनुमान है.

IMD ने मौसम को लेकर ताजा पूर्वानुमान जारी किया है. मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक 26 मार्च को पूर्वी और उत्तर-पूर्वी राज्यों के कई हिस्सों में धूल भरी आंधी आ सकती है. खासकर पश्चिम बंगाल की सीमा से लगे गंगा के मैदानी इलाकों में तेज हवाएं लोगों को परेशान कर सकती हैंवहीं, तूफान के साथ-साथ कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश की भी संभावना है. पिछले कुछ दिनों से गंगा के तटीय मैदानी इलाकों में मौसम के तेवर तल्ख हैं। 

लगातार बदलते मौसम के मिजाज के कारण बारिश के साथ-साथ तूफान और ओलावृष्टि का दौर जारी है। इससे आम लोगों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.