home page

सिरसा के सतलुज पब्लिक स्कूल के संस्कार समारोह से ब्रहााकुमारीज़ के नशामुक्त जीवन संदेश रथ को हरी झंडी

 | 
 सिरसा के सतलुज पब्लिक स्कूल के संस्कार समारोह से ब्रहााकुमारीज़ के नशामुक्त जीवन संदेश रथ को हरी झंडी
mahendra india news, new delhi

हरियाणा के सिरसा में सतलुज पब्लिक स्कूल में बच्चों को सुसंस्कृत तथा सजग नागरिक बनाने के लिए  आध्यात्म का आधार संस्कार समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम मेंं ब्रहााकुमारीज़ द्वारा पूरे जिले में चलाए जा रहे नशामुक्त सिरसा अभियान का सन्देश देते रथ को मुख्य अतिथि संजीव पातड़, अधीक्षक- जिला कारागार, सिरसा ने हरी झंडी देकर इसका शुभारंभ किया। कार्यक्रम में राजयोगिनी बिन्दू दीदी, बिमला पातड़ तथा दीपिका पातड़ भी विशेष तौर पर उपस्थित रहे। 

मुख्य अतिथि संजीव पातड़, अधीक्षक- जिला कारागार ने कहा कि आदर्श नागरिक बनकर समाज तथा देश सेवा के प्रति समर्पित भाव उत्पन्न करने की शुभ प्रेरणाएं दी और कहा कि कामयाब जीवन की सीढ़ी हमारे श्रेष्ठ संस्कार हैं, इनका निर्माण हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए।

राजयोगिनी बिन्दू ने स्कूल के वातावरण को सतयुगी बताते हुए कहा कि संस्कार निर्माण हमारे विचारों से होता है इसलिए विचारें की शुद्धता और मन की एकाग्रता को धारण करने के लिए आध्यात्मिक शिक्षा को जीवन का जरूरी अंग बनाएं।  बहन जी ने संस्था के मेडिकल प्रभाग द्वारा चलाए जा रहे नशामुक्त अभियान के बारे में स्पष्ट करते हुए कहा कि भारत सरकार के सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय तथा प्रजापिता ब्रह्मïाकुमारीज़ ईश्वरीय विश्व विद्यालय में  हुए समझौते के अन्तर्गत सारे देश में नशामुक्त भारत अभियान चलाया जा रहा है। सिरसा जिला में भी 17 फरवरी 2024 को इस अभियान को कमिश्रर हिसार तथा ए डी जी पी, मधुबन करनाल की उपस्थिति में लॉंन्च किया गया था। इसी के अन्तर्गत अब पूरे जिला में नशामुक्त जीवनशैली के प्रति जागरूकता लाने हेतु यह रथ सेवा प्रारम्भ की जा रही है। 

WhatsApp Group Join Now

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे सतलुज स्कूल के निदेशक श्री नवजीत सरकारिया और रीतिका सरकारिया नें उपस्थित मेहमानों का आभार प्रकट किया और विद्यार्थियों के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए उन्हें हर क्षण अपने संस्कारों प्रति सजग रहकर महान व्यक्तित्व को धारण करने की प्रेरणा दी।

ब्रह्माकुमारीज़ द्वारा आयोजित नशामुक्त जीवन संदेश रथ में लगाई गई कुम्भकरण की आकर्षक झांकी द्वारा अज्ञान निद्रा से जागने तथा विशाल सक्रीन द्वारा नशों से होने वाले दुष्प्रभावों तथा इनसे मुक्त होने के लिए मेडिटेशन के अभ्यास की जानकारी दी गई।