home page

बजट 2024 में प्राइवेट कर्मचारियों को मिल सकता है तोहफा, 12 फीसद टैक्‍स छूट के साथ हो सकती है 50 हजार की एक्‍स्‍ट्रा बचत

सरकार इस बजट में टैक्स को लेकर कोई बड़ी राहत दे

ताजा खबरों, बिजनेस, केरियर व नौकरी संबंधित खबरों के लिए

व्हाट्सअप ग्रुप

से जुड़े

 | 
सरकार इस बजट में टैक्स को लेकर कोई बड़ी राहत दे

mahendra india news, new delhi

केंद्र सरकार इस कार्यकाला का अपना अंतिम बजट पेश करेगी। इस बजट को लेकर सभी इंतजार कर रहे हैं। इस 
इस बजट में बड़े ऐलान की उम्मीद नहीं है, संभावना कम ही है कि सरकार इस बजट में टैक्स को लेकर कोई बड़ी राहत दे या फिर कोई मोटा ऐलान करें। लेकिन इस बात की उम्मीद लगाई जा रही है कि बजट में सरकार पेंशन सिस्टम को लेकर नया बदलाव की घोषणा कर सकती है। 


आपको बता दें कि ओल्ड और न्यू पेंशन को लेकर विवाद के बीच सरकार नेशनल पेंशन सिस्टम को आकर्षक बनाने के लिए इस बजट में कुछ ऐलान कर सकती है। जानकारों के अनुसार माना जा रहा है कि वित्त मंत्री सीता रमण इस बजट में एनपीएस में ऐसे बदलाव कर सकती है, इससे सिनियर सिटिजन को राहत के साथ-साथ प्राइवेट सेक्‍टर के कर्मचारियों को भी टैक्स में छूट मिलेगी। इसे लेकर पेंशन फंड नियामक ने भी सरकार से एनपीएस में कुछ बदलाव की सिफारिश की है। 


आपको बता दें कि सरकार इस बजट में NPS का मेकओवर कर सकती है, उसमें बदलाव कर उसे आकर्षक बना सकती है। 1 फरवरी को वित्त मंत्री सीता रमण बजट घोषणा में नेशनल पेंशन योजना के लिए कुछ जरूरी बदलाव कर उसे आकर्षक बना सकती है। जानकारों की माने तो वित्त मंत्री सीता रमण 75 वर्ष के अधिक आयु के वरिष्ट नागरिकों के लिए कंट्रिब्यूशन बढ़ाने से लेकर विड्रॉल पर टैक्स बेनिफिट्स जैसे विक्लप जोड़कर सरकार इसे आकर्षक बना सकती है। माना जा रहा है कि सरकार एनपीएस को अट्रैक्टिव बनाने के लिए यह कदम उठा सकती है.

कर्मचारियों को मिल सकती है खुशखबरी
आपको बता दें कि एनपीएस में बदलाव की घोषणा से निजी सेक्टर के कर्मचारियों को भी राहत मिल सकती है. पीएफआरडीए की सिफारिश का फायदा निजी सेक्‍टर के एंप्लॉय को भी मिलेगा।  अगर बजट में एनपीएस में बदलाव होते हैं तो कर्मचारियों और नियोक्‍ताओं को भी 10 की जगह 12 प्रतिशत टैक्‍स छूट का फायदा मिलेगा। आपको बता दें कि दरअसल पेंशन फंड नियामक पीएफआरडीए ने एंप्लॉयर के योगदान पर ईपीएफओ जैसे टैक्स नियमों की मांग की है. माना जा रहा है कि वित्त मंत्री इस बारे में अंतरिम बजट में ऐलान कर सकती हैं।