home page

हरियाणा के सिरसा अनाजमंडी में सोमवार से नहीं होगी हड़ताल, मंडी मेंं होगी नरमा कपास की बोली

इसलिए वापस ली गई हड़ताल

ताजा खबरों, बिजनेस, केरियर व नौकरी संबंधित खबरों के लिए

व्हाट्सअप ग्रुप

से जुड़े

 | 
इसलिए वापस ली गई हड़ताल

mahendra india news, new delhi

हरियाणा के सिरसा में अनाज मंडी के अंदर सोमवार से आढ़ती हड़ताल नहीं करेंगे। कॉटन मिलर्स से जीएसटी को लेकर चल रहे विवाद का समाधान हो गया है। इसलिए सिरसा अनाजमंडी में 12 फरवरी यानि सोमवार से प्रस्तावित कॉटन की बोली की हड़ताल को स्थगित कर दिया गया है। अब सोमवार से हड़ताल नहीं होगी तथा अन्य जींसों की तरह ही कॉटन की बोली होगी। 


आपको बता दें कि दि आढ़तियां एसोसिएशन सिरसा के प्रधान मनोहर मेहता ने रविवार को एसोसिएशन की आम सभा की बैठक में उपस्थित आढ़तियों से कही। एसोसिएशन के प्रधान मनोहर मेहता ने बताया कि कॉटन मिलर्स से जीएसटी को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा है। इसको हल करने का हर संभव प्रयास एसोसिएशन की ओर से किया गया लेकिन कॉटन मिलर्स की ओर से कोई सार्थक जवाब नहीं मिला। 


उन्होंने बताया कि इस विवाद को सुलझाने के लिए तीन चार बार मिलर्स के मालिकों से मार्केट कमेटी के सचिव की उपस्थिति में बैठकें हुई लेकिन मिलर्स के मालिक अपनी जिद पर अड़े रहे। इसलिए उन्होंने सोमवार से नरमा-कपास की बोली नहीं करवाने का ऐलान किया था। उनकी हड़ताल को देखते हुए आज एसडीएम सिरसा ने कॉटन मिलर्स के मालिकों से बैठक की। 


इस बैठक में SDM ने मिलर्स मालिकों से विस्तार से इस मुद्दे पर चर्चा की जिसकी जानकारी SDM ने प्रधान मनोहर मेहता को बुलाकर दी। SDM ने बीच का रास्ता निकालते हुए कहा कि मिलर्स मालिक आढ़तियों को हर माह की 5 तारीख को जीएसटी का चेक बनाकर देंगे। आढ़ती उसे भरकर उसकी रसीद दिखा देंगे। इस सुझाव को 


आपको बता दें कि प्रधान मनोहर मेहता ने आज शाम एसोसिएशन की आम सभा में रखा। काफी विचार करने के बाद आढ़तियों ने अपनी सहमति देते हुए कहा कि यदि मिलर्स मालिक 5 तारीख को जीएसटी का चेक देते हैं तो फिर एक बार हड़ताल को स्थगित कर दिया जाए। सभी की सहमति से प्रधान मनोहर मेहता ने सोमवार से घोषित की गई नरमा-कपास की बोली की हड़ताल को स्थगित कर दिया है। उन्होंने सभी आढ़तियों से कहा कि वे सोमवार से अन्य जींसों की तरह ही नरमा-कपास की बोली करवाए।

इस अवसर पर आढ़ती एसोसिएशन के उपप्रधान प्रेम बजाज, एसोसिएशन सचिव दीपक मित्तल, कोषाध्यक्ष कुणाल जैन, सह सचिव महावीर शर्मा, उपप्रधान सुशील कस्वां,  सुशील रहेजा, अनीश गर्ग, दीपक नड्डा, राजकरण भाटिया, सुधीर ललित मेहता, कृष्ण गोयल, नरेंद्र धींगड़ा, देवराज कंबोज, मुकेश धींगड़ा, धर्मपाल जिंदल, श्याम लाल गर्ग, सोहन लाल गर्ग, राजेश बिट्टू, मनीश अरोड़ा, हन्नी अरोड़ा व कृष्ण मेहता मौजूद रहे थे।