home page

पश्चिमी विक्षोभ से बदलेगा मौसम, कई प्रदेशों में बरसात को लेेकर अलर्ट

जानिए आने वाले समय में कैसा रहेगा मौसम 

ताजा खबरों, बिजनेस, केरियर व नौकरी संबंधित खबरों के लिए

व्हाट्सअप ग्रुप

से जुड़े

 | 
जानिए आने वाले समय में कैसा रहेगा मौसम 

mahendra india news, new delhi

मौसम में एक बार फिर से बदलाव देखने को मिल रहा है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार एक ट्रफ रेखा दक्षिणी श्रीलंका से उत्तरी तमिलनाडु तट तक फैली हुई है। दक्षिण-पूर्व अरब सागर के ऊपर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है। चक्रवाती परिसंचरण उत्तरी पंजाब और आसपास के क्षेत्र पर औसत समुद्र तल से 3.1 किमी ऊपर तक फैला हुआ है।

मौसम विभाग ने बताया है कि पश्चिमी विक्षोभ को पश्चिमी हवाओं में एक चक्रवाती परिसंचरण के रूप में देखा जा सकता है, जिसकी धुरी समुद्र तल से 5.8 किमी ऊपर है और लगभग 70 डिग्री पूर्व देशांतर से लेकर 25 डिग्री अक्षांश के उत्तर तक चल रही है।

मौसम की संभावित गतिविधि
मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार अगले 24 घंटों के दौरान पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और बिहार के कुछ हिस्सों में घना से बहुत घना कोहरा छाए रहने का अनुमान है। पंजाब के कुछ हिस्सों में शीत दिवस से गंभीर शीत दिवस की स्थिति होने और 24 घंटों के बाद समाप्त होने की संभावना है। राजस्थान में 9 और 10 जनवरी को एक-दो स्थानों पर कोल्ड डे कंडीशन जारी रह सकती है.

पश्चिमी हिमालय के ऊपरी इलाकों में हल्की बारिश और बर्फबारी संभव है। 10 जनवरी को दक्षिणी कोंकण और गोवा और मध्य महाराष्ट्र में हल्की से मध्यम बारिश संभव है। 9 जनवरी को पूर्वी गुजरात, पूर्वी राजस्थान, पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों और मध्य प्रदेश में हल्की बारिश हो सकती है। आंतरिक तमिलनाडु, केरल और तटीय कर्नाटक में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक-दो स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। तमिलनाडु, आंतरिक कर्नाटक और लक्षद्वीप में हल्की बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर मध्यम बारिश हो सकती है। दक्षिणी आंध्र प्रदेश में 1 या 2 स्थानों पर हल्की बारिश संभव है।

आपको बता दें कि पिछले 24 घंटों में तमिलनाडु, केरल, कोंकण और गोवा, दक्षिण-पूर्व राजस्थान और उत्तरी मध्य प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश हुई।उत्तर प्रदेश और पंजाब के कुछ हिस्सों में बहुत घना कोहरा छाया रहा। राजस्थान, बिहार, हरियाणा, मध्य प्रदेश और ओडिशा के कुछ हिस्सों में घना कोहरा छाया रहा। पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी राजस्थान के कुछ हिस्सों में शीत दिवस से लेकर गंभीर शीत दिवस की स्थिति रही। पूर्वी राजस्थान के एक या दो इलाकों में कोल्ड डे की स्थिति रही।