home page

डेयरी खोलने पर मिलेगा 12 लाख रुपये का अनुदान, ऐसे उठाएं फायदा

खेती के बाद दूसरा बड़ा आय का स्त्रोत है पशुपालन 

ताजा खबरों, बिजनेस, केरियर व नौकरी संबंधित खबरों के लिए

व्हाट्सअप ग्रुप

से जुड़े

 | 
खेती के बाद दूसरा बड़ा आय का स्त्रोत है पशुपालन 

mahendra india news, new delhi

पशुपालन का व्यवसाय बढ़ता जा रहा है। खेती के साथ इसको आसानी से किया जा सकता है। सरकार भी किसानों को खेती के साथ पशुपालन करने के लिए प्रोत्साहित रही है ताकि उनकी आय में बढ़ोतरी हो सके। गांव में सरकारी स्कीमों का फायदा लेकर पशुपालक किसान डेयरी खोलकर अच्छी आमदनी कर सकते हैं।  


आपको बता दें कि डेयरी खोलने के लिए सरकार की ओर से भारी सब्सिडी भी दी जा रही है। इसके तहत यदि कोई 25 पशुओं की डेयरी खोलता है तो उसे 31,50,000 रुपये अनुदान दिया जा रहा है। शर्त यह है कि उसे उन्नत नस्ल की गायों की खरीद करनी होगी। इसके लिए उसे गिर, साहिवाल, थरपारकर जैसी नस्लों की खरीददारी करनी होगी। 

बता दें कि सरकार की ओर से 25 दुधारू गायों की एक इकाई स्थापित करने की लागत 62,50,000 रुपये निर्धारित की गई है। इस पर प्रदेश सरकार की ओर से लाभार्थी को कुल खर्च का 50 फीसद जो अधिकतम 31,25,000 रुपये है का अनुदान दिया जाएगा। डेयरी योजना के तहत लाभार्थी को अनुदान का भुगतान 3 चरणों में किया जाएगा। पहले चरण में इकाई के निर्माण पर परियोजना लागत का 25 प्रतिशत अनुदान दिया जाएगा। वहीं दूसरे चरण में 25 दुधारू गायों की खरीद और उनके 3 साल के बीमा और यातायात पर परियोजना लागत का 12.5 फीसद  अनुदान देय होगा। अंतिम और तीसरे चरण में परियोजना लागत की शेष 12.5 फीसद राशि का भुगतान किया जाएगा। इस तरह डेयरी के लिए आपको तीन चरणों में अनुदान की राशि प्रदान की जाएगी।

योजना में आवेदन के लिए किन दस्तावेजों  की होगी आवश्यकत।


आपको बता दें कि योजना में आवेदन के लिए आपको कुछ दस्तावेजों की आवश्यकता होगी। योजना में आवेदन के लिए आपको जिन दस्तावेजों की आवश्यकता होगी, वे प्रमुख दस्तावेज इस प्रकार से हैं। इसके लिए 
आवेदन करने वाले व्यक्ति का आधार कार्ड
आवेदक का आवासीय का प्रमाण
आवेदन के जमीन का विवरण
बैंक खाता विवरण के लिए बैंक पासबुक की कॉपी
आवेदक का मोबाइल नंबर जो आधार से लिंक हो
आवेदक का पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ