home page

IAS Interveiw Questions: लड़कियों की शर्ट में क्यों नहीं होती जेब, बटन का भी होता है अलग तरीका, जाने

 | 
 IAS Interveiw Questions: लड़कियों की शर्ट में क्यों नहीं होती जेब, बटन का भी होता है अलग तरीका, जाने 

IAS Interview Questions: आज के समय में फैशन समय समय पर बदलता रहता है। लड़कियों के परिधान आज के दौर में जींस, टीशर्ट, शर्ट, पैंट, ट्राउज़र आदि भी शामिल हो गये है। पहले सिर्फ सलवा`र सूट ,साड़ी तक ही सीमित थे। आज के इस समय में लड़के से लड़कियों के परिधनो में ज्यादा फर्क नहीं है।

अगर कोई लड़कियों को लड़कों से कम कहे तो उनकी सबसे बड़ी गलती होगी। क्योंकि आज लड़कियाँ किसी भी क्षेत्र में लड़कों से काम नहीं हैं। लडकियों के कपड़े लड़को के कपड़ो से थोड़ा अंतर होता जैसे महिलाओं महिलाओ की शर्ट में जेब नहीं होती वहीं पुरुषो की शर्ट में जेब होती है। लेकिन कभी अपने सोचा कि ऐसा क्यों है कि महिलाओ की शर्ट में जेब क्यों नहीं होती ,बताते है आज आपको इसके बारे-

WhatsApp Group Join Now

इसलिए नहीं होती जेब

करीब 95 प्रतिशत कपड़ो में आप अगर महिलाओं के शर्ट या किसी भी कपडे को देखेंगे तो आपको जेब नही मिलेगी और कुछ में मिलेगी तो वो भी एक अपवाद है। वही बता दे शर्ट की शुरु आत भारत से नही बल्कि पश्चिमी देशो से हुई थी। 18 वी सदी के आस पास से यहां पर पहना जा रहा है।

लड़कियों की शर्ट में जेब इसके पीछे एक कारण यह था कि अगर महिलाओं के कपड़ों में जेब होगी, तो वे अपनी जेब में कुछ न कुछ तो जरूर रखेंगी। इसलिए उनके शरीर की बनावट बिगड़ जाएगी और शरीर में उभार दिखाई देगा, जिससे उनके शरीर की सुंदरता कम हो जाएगी। इसलिए शर्ट में जेब नहीं होती थी लेकिन अब किसी किसी में होती है।

2000 के बाद लोगो की सोच में आया बदलाव

पहले के फैशन में लड़कियों की शर्ट में पॉकेट नहीं बनाई जाती थी। लेकिन करीब साल 2000 के बाद लोगो की सोच में काफी बदलाव आया और उन्होंने महिलाओं की शर्ट में भी जेब बनानी शुरू की कुछ महिलाओं ने इसे एक तरीके से सराहा भी जबकि कुछ डिजायनरो और फैशन जगत से जुड़े लोगो ने इसकी आलोचना भी की। आजकल अगर आपको जरूरत है तो जेब वाली शर्ट मिल ही जाएगी।